होम आइसोलेशन को लेकर कोविड-19 मरीजों के लिए आयुष मंत्रालय ने गाइडलाइंस जारी की है। इसमें जो लोग एसिम्प्टोमैटिक हैं, यानि जिन्हें लक्षण नहीं है, या फिर उन्हें माइल्ड सिम्पटम्स यानि हल्के लक्षण हैं, जैसे हल्का बुखार, गला खराब, बदन दर्द इत्यादि तो उनके लिए कुछ आयुर्वेदिक उपाय दिए गए हैं। चलिए जानते हैं उपायों के बारे में…

अगर आप एसिम्प्टोमैटिक हैं तो ये करें

  1. गुडूची घना वटी- 500 मिलीग्राम टेबलेट, गुनगुने पानी के साथ दिन में 2 बार लें।
  2. अश्वगंधा टेबलेट- 500mg की दो टेबलेट दिन में दो बार गुनगुने पानी के साथ लें। यह आपको 30 दिनों तक लेनी है।
  3. आयुष 64- 500mg की दो टेबलेट, गुनगुने पानी के साथ दिन में तीन बार 30 दिन तक लें।

अगर माइल्ड सिम्पटम्स यानि हल्के लक्षण हैं

1.आयुष 64- 500mg की दो टेबलेट दिन में तीन बार गुनगुने पानी के साथ 30 दिनों तक लें।

  1. अश्वगंधा-शुंठी- अश्वगंधा की 250mg टेबलेट और शुंठी पाउडर 500mg दिन में दो बार गुनगुने पानी के साथ लें। यह आपको 15 दिन तक लेना है।
  2. गुडूची घना वटी- 500mg टेबलेट दिन में दो बार गुनगुने पानी के साथ 15 दिन तक लें।
  • अगर आपको हल्का बुखार, सर दर्द, थकान या आपको कमजोरी (वीकनेस) फील हो रही है तो सुदर्शन घन वटी की 500 mg की टेबलेट दिन में 2 बार लें। इसके साथ नागरादी कषाय 20ml भी दिन में दो बार लें। यह दोनों आपको 15 दिनों तक लेनी है।

कफ या गला खराब है तो

  1. सितोपलादि चूर्ण शहद के साथ लें। इसकी मात्रा 3 ग्राम दिन में तीन बार लें। यह आपको 15 दिनों तक लेना है।
  2. व्योशदी वटी की 1-2 टेबलेट खाएं और यष्टिमधु चूर्ण 1 से 3 ग्राम दिन में दो बार शहद के साथ खाएं। यह भी आपको 15 दिनों तक लेना है।
  3. अगर आपकी स्मेल और टेस्ट चला गया है तो व्योशदी वटी की 1-2 गोलियां खाएं।

इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए भी आयुष मंत्रालय द्वारा कुछ दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इसमें मंत्रालय ने इम्युनिटी बढ़ाने के लिए कुछ सामान्य और आयुर्वेदिक उपाय बताए हैं:

सामान्य उपाय

  1. केवल गर्म पानी पिएं और ठंडी चीजें न खाएं।
  2. एक दिन में कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्यान यानी मेडिटेशन करें
  3. अपने खाने में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों को शामिल करें।

आयुर्वेदिक उपाय

  1. सुबह 10 ग्राम या 1 चम्मच च्यवनप्राश खाएं। डायबिटीज के मरीज हैं तो शुगर फ्री च्यवनप्राश ले सकते हैं।
  2. हर्बल टी या काढ़ा पिएं। इस काढ़े को तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सूखा अदरक, मुनक्का डालकर बनाएं। इसे दिन में एक या दो बार ले सकते हैं। टेस्ट के लिए गुड़ या फिर नींबू भी डाल सकते हैं।
  3. अगर आपको सूखी खांसी है या गले में खराश है तो आप
    स्टीम लें। यह स्टीम आप पुदीना या अजवाइन डालकर ले सकते हैं।
  4. खांसी या गले में जलन होने पर लौंग पाउडर को शहद में मिलाकर, दिन में 2-3 बार ले सकते हैं।

आयुष मंत्रालय द्वारा ये भी कहा गया है कि अगर इस दौरान आप किसी समस्या का सामना कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से जरूर परामर्श लें। कोई भी दवाई खाने से पहले या हालात गंभीर होने पर बिना किसी देरी के डॉक्टर से बात करें।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *