कोरोना के खिलाफ देश भर में चल रहे टीकाकरण अभियान में भारत दिन- प्रतिदिन नए रिकॉर्ड बना रहा है। टीकाकरण में आई ये तेजी, इस देश को न सिर्फ आत्मनिर्भरता की ओर ले जा रही है, बल्कि वैश्विक पटल पर इस वायरस के प्रति चल रही लड़ाई को और मजबूती प्रदान रही है। भारत में अब तक कुल 14 करोड़ 52 लाख 71 हजार 186 से भी ज्यादा लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगाया जा चुका है। बीते दिन यानी कि 26 अप्रैल को देशभर में 31 लाख से अधिक लोगों को यह टीका लगाया गया है। इनमें से 19 लाख 73 हजार 778 लोगों को पहली खुराक लगाई गई जबकि 12 लाख 910 नागरिकों को दूसरी खुराक दी गई है।

इसके अलावा राज्यों में ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए 10 मीट्रिक टन और 20 मीट्रिक टन के कुल 20 क्रायोजेनिक टैंकर राज्यों को दिए हैं। इसमें से 20 टन की क्षमता वाले 2-2 टैंकरों को मध्य प्रदेश-उत्तर प्रदेश को दिया गया है। साथ ही साथ 10 टन की क्षमता वाले 6 टैंकरों में से 4 टैंकरों को राजस्थान को और 2 टैंकरों को उत्तर प्रदेश को दिया गया है। ये सभी टैंकर राज्यों को बीते दिन यानी कि 26 अप्रैल को दिए जा चुके हैं। इसके अलावा यूपी को आज 10 टन की क्षमता वाला एक, दिल्ली को 3 और गुजरात को 2 टैंकर आज दिए गये हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि 20 टन की क्षमता वाले शेष बचे चार टैंकरों में 2 गुजरात और 2 दिल्ली को आगामी 30 अप्रैल को दिए जाने हैं।

https://bit.ly/3gI5MWe

बीते 24 घंटों में किसे कितनी डोज लगी?

भारत में चल रहे टीकाकरण अभियान के 101वें दिन 25 हजार 347 हेल्थ केयर वर्कर्स को पहली जबकि 50 हजार 829 वर्कर्स को दूसरी डोज लगाई गई। इसी क्रम में 1 लाख 13 हजार 062 फ्रंट लाइन वर्कर्स को पहली डोज जबकि 1 लाख 751 वर्कर्स को दूसरी डोज लगाई गई। ठीक इसी प्रकार 45 से 60 वर्ष के लोगों की श्रेणी में 11 लाख 69 हजार 656 नागरिकों को पहली डोज जबकि 2 लाख 74 हजार 518 लोगों को दूसरी डोज लगाई गई है। वरिष्ठजनों की श्रेणी में 6 लाख 65 हजार 713 नागरिकों को पहली डोज और 7 लाख 74 हजार 812 लोगों को दूसरी डोज लगाई गई है।

इसके अलावा बीते 24 घंटों में कुछ राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में एक भी मौत नहीं हुई है, जिसमें अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दमनदीव, दादरा और नागरा हवेली, लद्दाख, त्रिपुरा, मेघालय, मिजोरम, लक्षद्वीप, नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश शामिल हैं।

हेल्थ केयर वर्कर्स

हेल्थ केयर वर्कर्स की बात करें तो अभी तक कुल 93 लाख 24 हजार 770 लोगों को पहली खुराक, जबकि 60 लाख 60 हजार 718 लोगों को दूसरी खुराक दी जी चुकी है। कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान में सरकार की मुस्तैदी और लोगों के पारस्परिक सहयोग के चलते 1 करोड़ 21 लाख, 10 हजार 258 से भी ज्यादा फ्रंटलाइन वर्कर्स को इस टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है। वहीं इसी श्रेणी में 64 लाख 25 हजार से अधिक लोगों को दूसरी खुराक भी दी जा चुकी है।

45 से 60 वर्ष की आयु वर्ग के इतने नागरिकों को लगी वैक्सीन

45 से 60 वर्ष के आयुवर्ग के नागरिकों की बात करें तो कुल 4 करोड़ 93 लाख 48 हजार से भी अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला टीका लगाया जा चुका है, जबकि इसी आयुवर्ग के 26 लाख 92 हजार 376 लोगों को दूसरा टीका भी लगाया जा चुका है।

वरिष्ठ नागरिकों की रही है संपूर्ण भागीदारी

सीनियर सिटीजन यानी कि वरिष्ठ नागरिकों के द्वारा भी इस टीकाकरण अभियान में सरकार को भरपूर सहयोग मिल रहा है। 60 वर्ष से ऊपर की उम्र के 5 करोड़ 5 लाख 77 हजार से भी ज्यादा नागरिकों को इस टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है, जबकि 87 लाख 31 हजार से भी अधिक वरिष्ठजनों को इस टीके की दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

राज्यवार यह है आंकड़ा

राज्यों की अगर बात करें तो महाराष्ट्र में अब तक 1 करोड़ 27 लाख, राजस्थान में 1 करोड़ 5 लाख, यूपी में 98 लाख, गुजरात में 96 लाख से भी ज्यादा लोगों को कोरोना का पहला टीका लगाया जा चुका है। वहीं केंद्र शासित प्रदेशों की सूची की अगर बात करें तो दिल्ली में 24 लाख, पुड्डुचेरी में 1.63 लाख, नागालैंड में 1.41 लाख, लद्दाख में 72 हजार, लक्षद्वीप में 17 हजार से अधिक लोगों को इस टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है।

दक्षिण भारत में भी तेजी से लग रही वैक्सीन

दक्षिण भारत की बात करें तो तमिलनाडु में कुल 54 लाख 84 हजार, आंध्र प्रदेश में 59 लाख 86 हजार, ओडिशा में 56 लाख 18 हजार, केरल में 69 लाख 91 हजार, कर्नाटक में 88 लाख 92 हजार, तेलंगाना में 42 लाख से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

उत्तरपूर्वी राज्यों की सूची के तहत मणिपुर में 1.92 लाख, मेघालय में 2.25 लाख, त्रिपुरा में 10.67 लाख, अरुणाचल प्रदेश में 2.16 लाख से भी ज्यादा नागरिकों को टीका लगाया जा चुका है।

https://www.mygov.in/covid-19/

देशभर में कुल वैक्सीन की 67% डोज 10 राज्यों में दी गई है, जिसमें लगभग महाराष्ट्र (10.26%), राजस्थान (8.63%), उत्तर प्रदेश (8.22%), गुजरात (8.07%), पश्चिम बंगाल (7.04%), कर्नाटक (6.12%), मध्य प्रदेश (5.50%), केरल (4.81%), बिहार (4.51%), आंध्र प्रदेश (4.12%) शामिल हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *