प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना  नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार प्रदेश में आक्सीजन गैस की अपूर्ति में लगातार वृद्धि की जा रही है। अस्पतालों में आक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने के लिए रेल एवं हवाई सेवाओं की भी मदद ली जा रही है। अधिक से अधिक टैंकरों के माध्यम से अस्पतालों को आक्सीजन की पूर्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों में आक्सीजन होने के बावजूद भी लोगों को सुविधाएं नहीं दी जा रहीं ऐसे अस्पतालों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों ने लोगों के बीच अफवाह फैलाकर डर का माहौल पैदा किया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में आक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए 100 बेड से अधिक क्षमता वाले प्रत्येक अस्पतालों में आक्सीजन प्लाण्ट लगाने के लिए निर्देश दिए गए हैं। निजी अस्पतालों में आक्सीजन प्लाण्ट लगाने के लिए  20 साल का अनुबंध किया जायेगा। इसी प्रकार प्रदेश के 855 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में 480 करोड़ रुपये की लागत से आक्सीजन प्लाण्ट लगाने का प्रस्ताव मिल चुका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  के निर्देश पर  सरकार द्वारा कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने की सभी व्यवस्थाएं की जा रही हैं। प्रदेश में कोविड प्रबंधन को पूरी प्रतिबद्धता के साथ लागू कर इस महामारी को रोकने की कार्यवाही की जा रही है, जिससे संक्रमण के प्रसार में कमी आयी है। 

उन्होंने कहा कि सभी के सामूहिक प्रयास से प्रदेश में संक्रमण दर में कमी आ रही है। वर्तमान में तीन  लाख से अधिक संक्रमित व्यक्ति हैं, जिसमें से ढाई लाख व्यक्ति होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा होम आइसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों से निरन्तर सम्पर्क रखने तथा एक सप्ताह की दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। निजी अस्पतालों में कोविड इलाज की दरें निर्धारित हैं। किसी भी कोविड मरीज से निर्धारित दर से ज्यादा शुल्क नहीं लिया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों में बेड न उपलब्ध होने पर निजी अस्पतालों में मरीजों का इलाज कराया जायेगा, जिसका भुगतान प्रदेश सरकार द्वारा आयुष्मान योजना के तहत किया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिले के कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेण्टर के टेलीफोन नम्बर को लोगों की सुविधा के लिए उपलब्ध कराया जायेगा। कोविड मरीजों की सुविधा के लिए प्रत्येक जिले में 200 अतिरिक्त बेड बनाये जाएंगे, इस प्रकार पूरे प्रदेश में 15000 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जाएंगी। प्रदेश के सभी बड़े शहरों में स्थित अस्पतालों में प्रतिदिन बेड एवं आईसीयू की संख्या बढ़ाई जा रही है। 

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने  बताया कि जो लोग होम आइसोलेशन में हैं, अगर उनकों कोविड-19 की किट नहीं मिली है, तो इन्टीग्रेटेड कन्ट्रोल रूम में व मुख्य चिकित्साधिकारी से सम्पर्क करके ले सकते हैं। जो लोग होम आइसोलेशन में हैं अगर वे डाक्टर की सलाह लेना चाहते हैं तो, वे 18001805146, 18001805145 इस हेल्पलाइन पर सम्पर्क कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्ति घर से ही ई-संजीवनी पोर्टल का प्रयोग करके चिकित्सकों से सलाह ले सकते हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *