भारत और फ्रांस की नौसेनाएं रविवार से अरब सागर में तीन दिवसीय युद्धाभ्यास शुरू करेंगी और इस दौरान उन्नत हवाई रक्षा एवं पनडुब्बी रोधी अभ्यासों जैसे जटिल नौसैन्य अभियान चलाए जाएंगे। अधिकारियों ने बताया कि ‘वरुण’ अभ्यास के 19वें संस्करण में दोनों नौसेनाओं के बीच समन्वय एवं मिलकर अभियान चलाने की स्तर का प्रदर्शन होगा। 

अधिकारियों ने बताया कि भारतीय नौसेना गाइडेड मिसाइल भेदक विध्वंसक कोलकाता, निर्देशित मिसाइल फ्रिगेट, तरकश एवं तलवार, बेड़ा सहायक पोत दीपक, कलवरी श्रेणी की एक पनडुब्बी और लंबी दूरी के पी-8 आई समुद्री गश्ती विमान का एक बेड़ा तैनात करेगी। राफेल एम. लड़ाकू विमानों के साथ विमान वाहक चार्ल्स डी. गाउले, ई2सी हॉकेये विमान और हेलीकॉप्टर काएमैन एम. और दाउफिन फ्रांसीसी नौसेना का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

फ्रांसीसी नौसेना हवाई रक्षा विध्वंसक शेवेलियर पॉल, फ्रिगेट प्रोवेंस और पोत वार को भी तैनात करेगी। पश्चिमी बेड़े के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल अजय कोचर भारतीय पक्ष और कमांडर टास्क फोर्स 473 रियर एडमिरल मार्क औसेदात फ्रांसीसी पक्ष का नेतृत्व करेंगे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *