कोरोना महामारी के इस समय में गाजियाबाद के इंदिरापुरम स्थित गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा भी संकटमोचक बनकर सामने आया है। गुरुद्वारे की ओर से कोरोना मरीजों के लिए ‘ऑक्सीजन लंगर’ शुरू किया गया है और उसने बीमार लोगों को अस्पताल में बेड्स मिलने तक अपने परिसर में ऑक्सीजन आपूर्ति का वादा किया है।

गुरुद्वारे के प्रबंधक गुरप्रीत सिंह रम्मी ने बताया कि हम ऑक्सीजन सिलेंडर देने या भरने का काम नहीं कर रहे। लोगों से हम कह रहे हैं कि वे वाहन में अपने मरीज के साथ इंदिरापुरम गुरुद्वारे में आएं और हम उन्हें ऑक्सीजन उपलब्ध कराएंगे।

उन्होंने कहा कि दो घंटे की बात हो, चार या आठ घंटे की बात हो, मरीज को हम तब तक ऑक्सीजन उपलब्ध कराएंगे जब तक कि उसे अस्पताल में बेड नहीं मिल जाता। रम्मी ने कहा कि मेरी गाजियाबाद के डीएम और सांसद वी.के.सिंह जी से अपील है कि आप हमें बैकअप के लिए 20-25 ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराएं, 25 सिलेंडर से हम 1,000 लोगों की जिंदगी बचाएंगे।

गौरतलब है कि कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के आगे अब अस्पताल और संसाधन भी कम पड़ने लगे हैं। सबसे ज्यादा मारामारी ऑक्सीजन को लेकर है। अस्पतालों में सभी ऑक्सीजन बेड फुल हैं और मरीजों को ऑक्सीजन के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इस कारण कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन का संकट गहराया गया है।

पहले से ऑक्सीजन की कमी झेल रहे अधिकतर अस्पताल अब ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले नए मरीजों को भर्ती नहीं कर रहे हैं। ऐसे में लोगों को अपनों की जान बचाने के लिए खुद ही इधर-उधर से ऑक्सीजन की व्यवस्था के लिए भटकना पड़ रहा है। जिले में 34 अस्पतालों में कोविड के मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इन अस्पतालों में 900 मरीज ऑक्सीजन के सहारे कोरोना को मात देने का प्रयास कर रहे हैं।

बेड की कमी को देखते हुए प्रशासन ने आठ और कोविड अस्पताल बनाए हैं। इनसे मरीजों को राहत मिलेगी। जिन मरीजोंं को सांस लेने में दिक्कत हो ही हैं उन्हें अस्पतालों में ऑक्सीजन वाले बेड नहीं मिल रहे हैं। वहीं जो मरीज भर्ती हैं उनके लिए भी ऑक्सीजन की मात्रा कम पड़ रहे हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed