दिल्ली हाई कोर्ट में दिल्ली में ऑक्सीजन ki किल्लत पर चल रही सुनवाई के दौरान कोर्ट ने मुख्यमंत्री केजरीवाल को जम कर फटकार लगाया | हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार की हाथ पर हाथ धर कर बैठे रहने और राजनीति करने के लिए खूब लताड़ लगाई |

दिल्ली हाईकोर्ट ने कोर्ट में मौजूद दिल्ली सरकार के अधिकारियों से पूछा कि आपने ऑक्सीजन को दिल्ली में लाने के लिए जिस टैंकर के इस्तेमाल की जरूरत है आखिर उस टैंकर की उपलब्धता को लेकर क्या किया ?

इस पर दिल्ली सरकार के अधिकारी ने दो टूक जवाब देते हुए कहा कि, हम इस बारे में केंद्र से संपर्क कर रहे हैं|

तब कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा कि दिल्ली को 480MT ऑक्सीजन कब तक मिलने लगेगी ? जिस पर केंद्र सरकार के वकील ने कहा कि 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिलने में दिक्कत नहीं, दिक्कत उस ऑक्सीजन को दिल्ली तक लाने की है। जिसके लिए दिल्ली सरकार को भी टैंकर का इंतजाम करना पड़ेगा।

दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा ये कोविड-19 की दूसरी लहर नहीं बल्कि सुनामी है। केंद्र सरकार ने अदालत कहा कि मई में आंकड़े और बढ़ सकते हैं। हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा अगर आंकड़े बढ़ने वाले हैं तो आप की तैयारियां कैसी हैं? हाईकोर्ट ने हालात पर चिंता जताई |

सुनवाई के दौरान अपने नाकामियों को छुपाते हुए दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन की ज़िम्मेदारी का ठीकरा केंद्र सरकार के सर पे डाल दिया |. दिल्ली सरकार के वकील ने कहा है कि दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई पहुंचाने का काम केंद्र सरकार देख ले, हम इस बाबत में केंद्र सरकार से लिखित में अपील करने को तैयार है।

इस पर कोर्ट ने कड़ा रुख दिखाते हुए दिल्ली सरकार के वकील से पूछा की आपकी तैयारी क्या है ? दिल्ली सरकार के इस दलील पर केंद्र सरकार के वकील ने भी ऐतराज़ जताया और कहा कि अगर ऐसा है तो यह बात 3 दिन पहले ही किया जाना चाहिए था, जिस दिन ये केस कोर्ट में आया था |

सारी दलीलों को सुनने के बाद नाराज़ दिल्ली हाई कोर्ट ने सख़्त टिप्पणी करते हुए कहा कि केन्द्र, राज्य, स्थानीय प्रशासन से जुड़ा कोई भी अधिकारी जो ऑक्सीजन की सप्लाई में दिक़्क़त पैदा करेगा, हम उसे लटका देंगे*
(‘we will hang them’). हम पहले ही कह चुके है कि ऐसे लोग जो आम लोगो की ज़िंदगी खतरे में डाल रहे है, हम किसी को छोड़ेंगे नहीं।

केंद्र सरकार के वकील ने हाईकोर्ट को बताया कि फिलहाल ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर 2 टैंकर दिल्ली पहुंच चुके हैं। जल्द ही जरूरत के हिसाब से अस्पतालों तक पहुंच जाएंगे। फिलहाल दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के चलते हालात खराब हो रहे है |

इस बीच हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा है कि वह सोमवार तक बताएं कि ऑक्सीजन प्लांट लगाने का जो निर्देश दिया गया था उस पर अब तक क्या कार्रवाई हुई है |

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को शुक्रवार को कोरोना की तैयारियों को लेकर जब प्रधानमंत्री के साथ सभी राज्यों के मुख्यमंत्रीयों की बैठक चल रही थी तब भी केजरीवाल ने पब्लिसिटी स्टंट खेलते हुए मीटिंग को लाइव कर दिया था , जिसको लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कड़ा ऐतराज़ जताया था जिसको लेकर केजरीवाल को माफ़ी तक मांगनी पड़ी थी |

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed