लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) टैंकरों से भरी भारतीय रेलवे द्वारा चलाई जा रही दूसरी ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन आज झारखंड के बोकारो से उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हो गई है। इस ट्रेन के शनिवार सुबह तक लखनऊ पहुंचने की उम्मीद है। इस बारे में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा, “उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति हेतु बोकारो स्टील प्लांट से ऑक्सीजन एक्सप्रेस लखनऊ के लिए चल चुकी है। इसके जल्दी पहुंचने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया जा चुका है। राज्यों में ऑक्सीजन की तेजी से एवं समुचित सप्लाई के लिए रेलवे प्रतिबद्ध है और निरंतर कार्य कर रही है।”

जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले गुरुवार देर रात ऑक्सीजन टैंकरों से भरी पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस विशाखापट्टनम से महाराष्ट्र के लिए रवाना हुई थी।

दोपहर 1:30 बजे रवाना हुई ट्रेन

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि बोकारो से ऑक्सीजन से भरे टैंकरों को लेकर ऑक्सीजन स्पेशल ट्रेन आज दोपहर 13.50 बजे रवाना हुई। इसके शनिवार सुबह तक लखनऊ पहुंचने की संभावना है। ट्रेनों के माध्यम से ऑक्सीजन की ढुलाई लंबी दूरी के लिए सड़क मार्ग की तुलना में तेज है। ट्रेनें एक दिन में 24 घंटे तक चल सकती हैं लेकिन ट्रक के चालकों को आराम आदि की जरूरत होती है।

गौरतलब हो कि टैंकरों की लोडिंग व अनलोडिंग को आसान बनाने के लिए एक रैम्प की जरूरत होती है। कुछ स्थानों पर रोड ओवरब्रिज (आरओबी) और ओवरहेड इक्विपमेंट (ओएचई) की ऊंचाई की सीमाओं के कारण, रोड टैंकर का 3320 मिमी ऊंचाई वाला टी 1618 मॉडल 1290 मिमी ऊंचे फ्लैट वैगनों पर रखे जाने के लिए व्यवहार्य पाया गया था। इसके बाद ही ट्रेन चलाने का निर्णय लिया गया था।

क्या है ऑक्सीजन एक्सप्रेस?

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते तेजी से बढ़ी ऑक्सीजन की मांग को देखते हुए भारतीय रेलवे ने बीते सोमवार से ऑक्सीजन एक्सप्रेस नामक ट्रेन की शुरुआत कर दी है। जिसके तहत पहली ट्रेन सोमवार रात 8:05 बजे रवाना हुई थी। रेल मंत्रालय के मुताबिक सात डिब्बों की विशेष रेल के हर डिब्बे में 16 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन आएगी और इस ट्रेन को आने-जाने में प्राथमिकता दी जाएगी।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *