देश में कोरोना के नए मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि फिलहाल संपूर्ण लॉकडाउन की जरूरत नहीं है. फिलहाल नाइट कर्फ्यू काफी है. उन्होंने कहा कि हमें नाइट कर्फ्यू की जगह कोरोना कर्फ्यू शब्द का इस्तेमाल करना चाहिए. लोगों में इससे सही संदेश जाएगा.

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में टीका उत्सव मनाने की अपील की. उन्होंने कहा, ”11 अप्रैल को ज्योतिबा फुले जी की जन्म जयंति है और 14 अप्रैल को बाबा साहेब की जन्म जयंति है, उस बीच हम सभी ‘टीका उत्सव’ मनाएं.”

पीएम मोदी ने कहा, ”हमारा प्रयास यही होना चाहिए कि इस टीका उत्सव में हम ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेट करें..

मैं देश के युवाओं से भी आग्रह करूंगा कि आप अपने आसपास जो भी व्यक्ति 45 साल के ऊपर के हैं, उन्हें वैक्सीन लगवाने में हर संभव मदद करें.”कई राज्यों ने वैक्सीन की कमी का दावा किया है. इस संदर्भ में पीएम मोदी ने कहा कि आपको पता है कितनी वैक्सीन बन पाती है. किसी एक राज्य में सारा वैक्सीन रख कर कोरोना को खत्म नहीं किया जा सकता है. हमें सभी राज्यों में कोरोना वैक्सीन को बांटना है.प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लोग पहले से अधिक बेपरवाह हो गए हैं, कुछ राज्यों में प्रशासन शिथिलता बरत रहा है. उन्होंने कहा कि हमारे पास संसाधन हैं, अब अनुभव भी है, जांच (टेस्ट), पता लगाना (ट्रैक), उपचार (ट्रीट), कोविड उपयुक्त व्यवहार से संक्रमण की चरम सीमा को नीचे लाने में मदद मिलेगी. संक्रमित व्यक्ति को रोकना ही वायरस की रोकथाम का रास्ता है, हमें जांच को बढ़ाना होगा.पीएम मोदी ने कहा कि कंटेनमेंट जोन में सभी का कोरोना टेस्ट किया जाना चाहिए. इसका फायदा मिलेगा. अगर कोई वयक्ति कोरोना से संक्रमित होता है तो उसके संपर्क में आने वाले कम से कम 30 लोगों का टेस्ट किया जाना चाहिए. माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर फोकस की जरूरत है

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *