पूरे देश में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच देश के अलग-अलग हिस्सों से लगातार कोरोना के बढ़ते मामले सामने आ रहे हैं, ऐसी परिस्थिति राज्य सरकारों के लिए चिंता का सबब बन रही है। इस बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन जैसे उपाय अंतिम विकल्प हैं। हालांकि कोरोना संक्रमण को रोकने और मरीजों के इलाज के लिए आवश्यक व्यवस्था करने का कार्य निरंतर जारी है। 

राज्य के सभी शहरों में लगा दिया गया है वीकेंड लॉकडाउन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट पार्क में पौधरोपण के बाद मीडिया के प्रतिनिधियों से बात करते हुए कहा कि बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन करना आवश्यक हो रहा है। इस संबंध में सभी अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं। सभी जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को बैठक कर अपने जिलों के पेशेंट लोड और परिस्थितियों को देखते हुए आवश्यक और उपयुक्त निर्णय करने के लिए तत्काल बैठकें आयोजित करने का निर्देश भी दिया गया है। कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए आवश्यकता पड़ने पर बड़े शहरों में कंटेनमेंट एरिया भी बनाए जाएंगे।

‘अस्पतालों में बढ़ायी जा रही है बेडों की संख्या’

सीएम शिवराज ने कहा कि इन उपायों के साथ-साथ इलाज की व्यवस्था के विस्तार पर भी राज्य सरकार लगातार कार्य कर रही है। प्रदेश में बिस्तरों की संख्या 36 हजार से बढ़ाकर एक लाख की जा रही है। प्रत्येक जिले में कोविड केयर सेंटर स्थापित किया जा रहा है। शासकीय चिकित्सालयों के साथ निजी अस्पतालों का सहयोग भी लिया जा रहा है। राज्य शासन निजी अस्पतालों में नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था भी कर रही है। भोपाल में पीपुल्स और जे.के. अस्पताल में व्यवस्था की जा रही है। इंदौर और अन्य शहरों में भी निजी अस्पतालों की क्षमता का उपयोग करने संबंधी निर्देश दिए गए हैं। 

‘नहीं होगा ऑक्सीजन आपूर्ति का कोई संकट’

इसके साथ ही सीएम ने यह भी कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन आपूर्ति का कोई संकट नहीं है। भिलाई स्टील प्लांट से ऑक्सीजन की आपूर्ति आरंभ हो गई है। शासकीय स्तर पर रेमिडिसीवर इंजेक्शन की खरीद भी आरंभ हो रही है। दवाईयों की कोई कमी न रहे, इसका भी समुचित प्रबंध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण ऐसी महामारी है, जिसके संबंध में कोई आकलन कर पाना संभव नहीं है। देश और प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसमें संयम, धैर्य और आत्मविश्वास बनाए रखना आवश्यक है। राज्य सरकार सबको साथ लेकर इस संकट का सामना करेगी। 

जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करेंगे CM शिवराज

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों से वीडियो कॉन्फ्रेंस करूंगा। मंत्रिपरिषद के साथियों के साथ 9 अप्रैल को 3 बजे और प्रदेश के सभी सांसद तथा विधायकों से शाम 5 बजे चर्चा होगी। सबको विश्वास में लेकर कोरोना के विरूद्ध युद्ध की रणनीति विकसित की जाएगी। यह परीक्षा की घड़ी है, हम साथ मिलकर लड़ेंगे और सफल होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेशवासी मास्क का उपयोग करते हुए, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें, बार-बार हाथ धोए और अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकले।

मध्य प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले

मध्य प्रदेश में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 4,043 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 3,18,014 तक पहुंच गई। राज्य स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य में पिछले 24 घंटों में इस महामारी से प्रदेश में 13 और व्यक्तियों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक इससे मरने वालों की संख्या 4,086 हो गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बुधवार को कोविड-19 के 866 नये मामले इंदौर में आये, जबकि भोपाल में 618 नये मामले सामने आए

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *