राजधानी दिल्ली के द्वारका साउथ थाना इलाके में एमएनसी में काम करने वाली एक महिला कार चालक ने रविवार रात सड़क से जा रहे रहे एक दंपत्ति को कुचल दिया। हादसे में दोनों बुजुर्गों की मौत हो गई। हालांकि जिस आरोपी कार चालक ने बुजुर्ग दंपती को कुचला है, उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कार जब्त कर पुलिस ने इस संबंध में लापरवाही से वाहन चलाने का मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है।

हादसे में मारे गए बुजुर्ग दंपती 79 वर्षीय शांति स्वरूप अरोड़ा और उनकी पत्नी 62 वर्षीय अंजना अरोड़ा द्वारका सेक्टर-11 स्थित अप्पू एंक्लेव के रहने वाले थे। जबकि आरोपी कार चालक 28 वर्षीय दीपाक्षी चौधरी भी द्वारका इलाके की ही रहने वाली है। पुलिस आरोपी दीपाक्षी से पूछताछ कर मामले की तहकीकात कर रही है। हादसा रविवार पौने सात बजे रात का है। जानकारी के मुताबिक द्वारका सेक्टर 11 में सुबह के समय सेक्टर 11 मस्जिद के नजदीक स्थित एक सोसाइटी के सामने से यह दंपत्ति कहीं जा रहा था। तभी एक कार ने दोनों को पीछे से कुचल दिया।

बुजुर्ग दंपती कार में फंस गया
हादसा कितना भयंकर था, इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि बुजुर्ग दंपति कार की बॉडी में भी बुरी तरह से फंस गए। हालांकि आरोपी कार चालक ने तत्काल अपनी कार को रोका। कार से बाहर निकली और शोर मचाने लगी तो घटनास्थल पर आसपास के लोगों की भारी भीड़ जुट गई। लोगों ने हादसे की जानकारी पुलिस को दी।

सात मिनट बाद निकाले गए बुजुर्ग
उधर मौके पर मौजूद लोगों ने कार के नीचे फंसे बुजुर्ग दंपती को निकालने का काफी प्रयास किया और करीब सात मिनट की कड़ी मशक्कत के बाद दंपती को कार के नीचे से किसी तरह निकाला जा सका। इसके बाद लोग आनन-फानन में दोनों को लेकर नजदीकी अस्पताल पहुंचे, जहां पहले महिला और फिर कुछ देर बाद उनके पति को मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस का कहना है कि दंपती जिस सोसाइटी में रहते था, उसके पास ही आरोपी कार चालक भी रहती है। वह एक एमएनसी में काम करती है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *