पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान के बीच सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस की एक प्रत्याशी को एक पोलिंग बूथ से भीड़ ने दौड़ा दिया। सुजाता मंडल खान को भीड़ ने लाठियां लेकर खेतों में दौड़ाया। टीएमसी का आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सुजाता मंडल का पीछा किया और सिर पर वार भी किया। टीएमसी का यह भी आरोप है कि हमले में एक सुरक्षाकर्मी घायल हुआ है। 

सुजाता मंडल खान आरामबाग से टीएमसी की प्रत्याशी हैं। मंगलवार को मतदान के दौरान अरांडी इलाके में स्थित एक बूथ पर खदेड़ा गया। उन्होंने मतदान के बीच विपक्षी बीजेपी पर आरामबाग के तृणमूल समर्थकों को धमकाने का आरोप लगाया है। हालांकि, बीजेपी ने आरोपों को झूठा बताया है।  

सुजाता मंडल ने कहा, ”बाटानाल में बूथ नंबर 45 पर टीएमसी का बटन दबाने के बावजूद बीजेपी को वोट जा रहा है। मुझे विश्वास है कि लोगों का आशीर्वाद मुझे मिलेगा। आरांडी में हमारे कार्यकर्ताओं को पीटा गया है। वे (बीजेपी) सोच रहे हैं कि हिंसा से उन्हें आरामबाग सीट मिल जाएगी। वे भूल कर रहे हैं। मैं उस तरह की व्यक्ति हूं, जिसे मौत का डर नहीं है।

आज सुबह चार ईवीएम और इतने ही वीवीपैट मंगलवार सुबह हावड़ा जिले के उलुबेरिया उत्तर विधानसभा सीट पर एक टीएमसी नेता के घर से मिले हैं। इसके बाद बंगाल चुनाव अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया। स्थानीय लोगों ने तृणमूल नेता का घर घेर लिया था। शांति कायम रखने के लिए यहां सीआरपीएफ की तैनाती करनी पड़ी।

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, ”बीजेपी के गुंडों ने टीएमसी कैंडिडेट सुजाता मंडल पर अरांडी-I बूथ नंबर 263 पर हमला किया। उनके निजी सुरक्षा अधिकारी को सिर में चोट लगी है और गंभीर हालत में है। सीआरपीएफ जवान मूक दर्शक बने रहे। आपको (केंद्रीय बल) भाजपा के गुंडों को पकड़ने के लिए बुलाया जाता है। आपको हमारे कार्यकर्ताओं और सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बुलाया जाता है, सुनिश्चित करें कि चुनाव निष्पक्ष तरीके से हों।”

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed