पश्चिम बंगाल में तीसरे चरण के मतदान के बीच मंगलवार को उलुबेरिया में टीएमसी के एक नेता के घर से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें और वीवीपैट स्लिप मिली हैं। चुनाव आयोग के हवाले से बताया है कि सेक्टर ऑफिसर तपन सरकार ईवीएम और वीवीपैट को लेकर टीएमसी नेता के घर पर गए थे। मामला सामने आने के बाद आयोग की ओर से सेक्टर ऑफिसर को सस्पेंड कर दिया गया है और ईवीएम मशीनों को मतदान की प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया है। हावड़ा की उलुबेरिया उत्तर सीट के सेक्टर 17 के सेक्टर ऑफिसर के तौर पर तैनात किए गए तपन सरकार ईवीएम और वीवीपैट लेकर अपने रिश्तेदार के घर चले गए थे, जो टीएमसी के नेता भी हैं।

जानकारी के मुताबिक रात में तपन सरकार टीएमसी नेता के घर पर ही सोए थे। आयोग ने तपन सरकार की इस हरकत को दिशानिर्देशों का बड़ा उल्लंघन करार दिया है। मामला सामने आने के बाद आयोग ने तत्काल प्रभाव से तपन सरकार को सस्पेंड कर दिया है और उन्हें इससे भी बड़ी सजा दी जा सकती है।

बता दें कि इससे पहले 1 अप्रैल को हुए पश्चिम बंगाल और असम में दूसरे चरण के मतदान के बाद भी विवाद छिड़ गया था। दरअसल असम के करीमगंज में एक बीजेपी कैंडिडेट की कार में ईवीएम मिली थी, जिसे मतदान के बाद स्ट्रॉन्गरूम ले जाया जा रहा था। इसका वीडिया सामने आने के बाद आयोग ने चुनाव प्रक्रिया से जुड़े उन 4 अफसरों को सस्पेंड कर दिया था, जो इसके लिए जिम्मेदार थे।

टीएमसी नेता के घर के बाहर जुटी भीड़, पुलिस ने हालात को संभाला

पश्चिम बंगाल में तीसरे राउंड में 31 सीटों पर मतदान चल रहा है। ये सीटें हावड़ा, हुगली और दक्षिण 24 परगना की हैं। चुनाव आयोग के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि सेक्टर ऑफिसर टीएमसी नेता के घर सोने चले गए थे, जो उनके रिश्तेदार लगते हैं। उनके साथ ईवीएम और वीवीपैट भी थे। टीएमसी लीडर के घर ईवीएम मिलने के बाद ग्रामीण घर के बाहर जुट गए और प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने भीड़ को हटाया और स्थिति को नियंत्रण में लिया।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *