मध्य प्रदेश में COVID-19 मामलों में भारी उछाल के बीच, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को भोपाल में COVID के उचित व्यवहार के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एक रोड शो किया। रोड शो के दौरान, मुख्यमंत्री ने लोगों से मास्क पहनने, सामाजिक दूरी बनाए रखने और नियमित रूप से हाथ धोने की अपील की।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे मास्क पहनें, सामाजिक दूरी बनाए रखें और नियमित रूप से हाथ धोएं।” उन्होंने कहा, “हम स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि कर रहे हैं, लेकिन संक्रमण को रोकने के लिए जनता का समर्थन आवश्यक है। सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करें और टीकाकरण कराएं।

गांधी प्रतिमा के सामने आज 24 घंटे के लिये स्वास्थ्य आग्रह पर बैठेंगे
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार दोपहर से यहां गांधी प्रतिमा के पास 24 घंटे के लिए स्वास्थ्य आग्रह पर बैठेंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को इस भोपाल के उपनगर संत हिरदाराम नगर में कोरोना जागरूकता रैली के समापन अवसर पर यह घोषणा की।

प्रदेश के जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री छह अप्रैल, मंगलवार को दोपहर 12.30 बजे से शहर के मिंटो हॉल में गांधी प्रतिमा के पास 24 घंटे के लिए स्वास्थ्य आग्रह पर बैठेंगे। इस दौरान वे कोरोना के संबंध में चिकित्सा विशेषज्ञों, धर्मगुरुओं, जन-प्रतिनिधियों, सामाजिक संगठनों, कैबिनेट के साथियों, मीडिया आदि के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा भी करेंगे। मुख्यमंत्री इसी स्थल पर कोरोना संबंधी बैठक भी करेंगे।

अधिकारी ने बताया कि 24 घंटे के स्वास्थ्य आग्रह के दौरान मिंटो हॉल में गांधी की प्रतिमा के पास ही खुले आसमान के नीचे मुख्यमंत्री कार्यालय संचालित होगा। इस दौरान पूरे कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। वीडियो कॉन्फ्रेंस के लिए वहाँ अस्थाई एन.आई.सी कक्ष भी बनाया जाएगा।

कांग्रेस ने पूछा- नौटंकी से प्रदेश से कोरोना कैसे भागेगा?
वहीं, विपक्षी दल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि मुद्दों से ध्यान मोड़ने के लिए शिवराज जी कल 24 घंटे के लिये मिंटो हाल में स्वास्थ्य आग्रह पर बैठ रहे हैं। उन्होंने कहा, ”पता नहीं इस 24 घंटे के आग्रह की नौटंकी से प्रदेश से कोरोना कैसे भागेगा, लोगों को न्याय कैसे मिलेगा, इलाज कैसे मिलेगा, बदहाल स्वास्थ्य सेवाएं कैसे सुधरेगी, संक्रमण कैसे कम होगा, यह तो शिवराज जी ही बता सकते हैं।”

कमलनाथ ने कहा, ”जब भी प्रदेशवासियों को सरकार की जरुरत होती है। न्याय के आवश्यकता होती है। प्रदेश में विपरीत परिस्थितियां आती हैं तो चुनौतियों का सामना करने की बजाय हमारे शिवराज जी मुद्दों से ध्यान मोड़ने के लिये उपवास-सत्याग्रह जैसे आयोजन करने लग जाते हैं।”

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *