कोविड संक्रमण के बढ़ते खतरे के मद्देनजर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी, गाजियाबाद तथा गौतमबुद्धनगर में विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि लखनऊ के एसजीपीजीआई, केजीएमयू तथा डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में बेडों की संख्या तत्काल बढ़ाई जाए। सीएम ने यह भी कहा कि प्रदेश भर में कोविड संक्रमित मरीजों को एंबुलेंस व बेड की उपलब्धता के संबंध में किसी भी प्रकार की शिथिलता या लापरवाही पाए जाने पर संबंधित के विरुद्ध जवाबदेही तय करते हुए सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने रविवार शाम कोलकाता से लौटने के बाद अपने सरकारी आवास पर  कोविड-19 के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बेड की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। एंबुलेंस सेवाओं को सुचारु रूप से संचालित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के संबंध में एंबुलेंस सेवाओं को चुस्त-दुरुस्त रखे जाने के निर्देश देते हुए कहा कि एंबुलेंस की संख्या में किसी भी प्रकार की कमी न हो। एंबुलेंस के लिए किसी भी मरीज को इंतजार न करना पड़े। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमित मरीजों के उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा स्वास्थ्य विभाग के संबंधित अधिकारी पूरी सावधानी व सतर्कता के साथ कार्यवाही करें। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए।

मुख्यमंत्री ने कोविड अस्पतालों में नोडल अधिकारी तैनात किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि मरीजों की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाए। सुविधाओं व चिकित्सा व्यवस्थाओं में किसी भी प्रकार की कमी नहीं होनी चाहिए। होम आइसोलेशन में कोरोना संक्रमित मरीजों को लगातार मॉनीटर किया जाए और आवश्यकता पड़ने पर तुरंत अस्पताल में उन्हें भर्ती किया जाए।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *