गृह मंत्री अमित शाह सोमवार को छत्तीसगढ़ पहुंचे, जहां सबसे पहले उन्होंने नक्सल हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सर्किट हाउस में उच्च स्तरीय बैठक की, जिसमें छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी मौजूद रहे। डीजीपी, आईजी, एसपी सहित कई आला अधिकारी बैठक में शामिल हुए।

नक्सली उन्मूलन अभियान को ले जाएंगे आगे

इस मौके पर गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि यह लड़ाई रुकेगी नहीं, दोगुनी गति से नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा, “मैं आज छत्तीसगढ़ और भारत की जनता को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि इस घटना के बाद हम इस लड़ाई को तेज करेंगे और विजय प्राप्त करेंगे। विकास के मोर्चे पर ढेर सारे काम हुए हैं। कोरोना की वजह से गति थोड़ी प्रभावित हुई है, लेकिन चल रहे विकास कार्यों में तेजी लाई जाएगी। केंद्र और राज्य सरकार मिलकर विकास के साथ ही नक्सली उन्मूलन अभियान को आगे ले जाएगें। इस दौरान परिवार को सांत्वना देते हुए गृह मंत्री ने कहा कि किसी के बेटे, किसी के पति और पिता ने देश के लिए जो बलिदान दिया है उसे हमेशा याद रखा जाएगा। जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

‘नक्सलियों की हुई भारी क्षति’

वहीं बैठक के बाद राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि इस घटना ने सबको झकझोर कर रख दिया है। यह सूचना भी मिल रही है कि नक्सलियों को भारी क्षति हुई है। चार ट्रैक्टर में भरकर नक्सली अपने साथियों को ले गए हैं। कुछ दिन में आंकड़ा साफ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कैंपों का विस्तार लगातार जारी रहेगा।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed