बिहार के मधुबनी जिले में होली के दिन पांच लोगों की हत्या मामले ने अब तूल पकड़ लिया है। विपक्षी दल समेत सत्ताधारी दल के मंत्रियों ने मामले में नीतीश सरकार को घेरते हुए प्रदेश के कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े किए।

तीन भाइयों और बीएसएफ के एएसआई समेत पांच की हत्या मामले में जहां नेता प्रतिपक्ष और राजद नेता तेजस्वी यादव और उनके भाई तेज प्रताप यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखे हमले किए वहीं राजग की सहयोगी भाजपा कोटे से मंत्री बने नीरज कुमार बबलू और बीजेपी के ही विधायक ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू ने अपनी ही सरकार के कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मधुबनी के मोहम्मदपुर गाँव में बेख़ौफ अपराधियों ने होली पर एक ही परिवार के 5 लोगों का नरसंहार किया। प्रदेश में विधि व्यवस्था समाप्त हो चुकी है। दोषियों को अविलंब गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कड़ी कारवाई होनी चाहिए। राजद नेताओं ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर यथासंभव मदद का भरोसा दिया है। दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि होली के दिन मधुबनी में नृशंस नरसंहार में 5 लोगों की हत्या। उसी दिन जहरीली शराब से 22 लोगों की मौत। नाकाम मुख्यमंत्री को एक दिन में इतनी मौतों की कोई जानकारी नहीं है इसलिए गोदी मीडिया में भी दिल्ली तक सन्नाटा है। बकौल मुख्यमंत्री अरे, ये सब तो मंगलराज की छोटी-मोटी झांकियां है

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और राजद नेता तेज प्रताप यादव ने भी तीखे शब्दों में ट्वीट कर बिना किसी का नाम लिए हमला बोला। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि- ए चच्चा..! बहीरा हो का या अन्धरा हो..? दिनदहाड़े बिहार में नरसंहार हो गया और आप कुच्छो बोलते नहीं..! गूँगा हो का..?

सत्ताधारी भाजपा नेताओं ने भी कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल
उधर वन एवं पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज सिंह बबलू ने घटनास्थल वाले गांव मधुबनी जिले के बेनीपट्टी के मोहम्मदपुर गांव का दौरा किया। एक न्यूज चैनल से बात करते हुए उन्होंने घटना को नरसंहार करार दिया। कहा कि पुलिस प्रशासन में बैठे कुछ निक्कमे अधिकारी की वजह से इस तरह की घटनाएं घट रही हैं। उन्होंने कहा कि घटना में शामिल किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। वहीं बीजेपी विधायक ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू ने कहा कि समय आ गया है जब पुलिस पैसे के लिए शराब पकड़ना छोड़कर अपराधियों को पकड़े।

बता दें कि पोखर में मछली पकड़ने के बर्चस्व की लड़ाई को लेकर होली के दिन करीब 35 लोगों ने बेनीपट्टी के मोहम्मदपुर गांव पर हमला कर अंधाधुंध फायरिंग की जिसमें गोली लगने से दो सगे भाइयों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था। एक भाई की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई थी। घटना में होली की छुट्टी में घर लौटे बीएसएफ में एएसआई ने भी इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया था।
 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *