बिहार के समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर प्रखंड के रामभद्रपुर पंचायत के छक्कन टोली गांव में शुक्रवार देर रात हुई अगलगी में कई घर जलने  के साथ ही आग से झुलस कर तीन लोगों की मौत हो गई। स्थानीय मुखिया फिरोजा खातून ने बताया कि अगलगी की घटना के समय सभी लोग घर मे सीए हुए थे। सूचना पर पहुंची पुलिस लाश को पोस्टमार्टम के लिए ले गई।

बांका में मजदूरी करने गए माता-पिता और घर में लगी आग में जिंदा जले तीन मासूम
बता दें कि बिहार के विभिन्न जिलों में इनदिनों अगलगी की कई घटनाएं घटीं हैं। जिसमें कई लोगों की मौत हो चुकी है। 2 अप्रैल को बांका में घर में लगी आग में तीन बच्चे जिंदा जल गए। यह घटना जिले के धोरैया प्रखंड के धनकुंड थाना क्षेत्र के बबुरा गांव की है। जानकारी के अनुसार माता-पिता घर से मजदूरी करने बाहर गए हुए थे। इस दौरान लगी आग में जहां ग्रामीण बुधो दास का घर जलकर राख हो गया वहीं उसकी 6 वर्षीय बेटी चांदनी कुमारी एवं 5 वर्षीय बेटी सोनाक्षी कुमारी की जलकर मौत हो गई वहीं गंभीर रूप से झुलसे डेढ़ वर्षीय बेटे ओम कुमार ने सनौला अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।  आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया। 

घर में लगी आग में भाई-बहन समेत छह बच्चे जिंदा जल गए
वहीं बीते मंगलवार को अररिया जिले में भुट्टा पकाते समय उड़ी चिंगारी से एक घर में लगी आग में भाई-बहन समेत छह बच्चे जिंदा जल गए। घटना जिले के पलासी प्रखंड के कबैया गांव में मंगलवार की है। पलासी प्रखंड के कबैया गांव में भाई-बहन समेत छह बच्चे फूस के बने घर लोगों से छिपकर भुट्टा(Corn) पका रहे थे। इसी दौरान उड़ी चिंगारी से घर में आग लग गई और बच्चों को घर से निकलने का मौका तक नहीं मिल सका। जब तक बच्चों का शोर सुनकर लोग पहुंचते तब तक वे सभी आग में जिंदा जल गए। घटना में किसी भी बच्चे को बचाया नहीं जा सका।  

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed