दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफंस कॉलेज में 13 छात्र कोरोना संक्रमित से संक्रमित पाए जाने हड़कंप मच गया है। कॉलेज प्रशासन ने ऐहतियात के तौर पर अब कड़े कोविड-19 प्रोटोकॉल को लागू किया है और अपने फैकल्टी मेम्बर्स से कहा है कि जब तक स्थिति बेहतर नहीं हो जाती तब तक कॉलेज में आने से बचें।

कॉलेज ने यह भी कहा कि जब तक मंजूरी प्रिंसिपल द्वारा नहीं दी जाती है कोई भी कॉलेज के अंदर नहीं प्रवेश करेगा। हालांकि सुरक्षा काउंटर पर उचित प्रक्रिया पूरी करने के बाद जरूरी और नियमित काम करने वालों को इसकी इजाजत होगी। 

कॉलेज के प्रिंसिपल जॉन के. वर्गीज ने बताया कि शुक्रवार सुबह को 13 छात्र कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। डीन ऑफिस ने कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार अब सभी छात्रों के लिए आइसोलेशन और सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक और कड़े उपाय किए हैं। 

इसके साथ ही वर्गीज ने आगे बताया कि कॉलेज में आने के लिए निर्धारित फैकल्टी को जब तक स्थिति में सुधार की कोई सूचना नहीं दी जाती है, तब तक उनके कॉलेज आने को स्थगित किया जा सकता है। घबराने की कोई बात नहीं है और कृपया स्थिति में सुधार और आगे की जानकारी का इंतजार करें।

सेंट स्टीफंस कॉलेज के कुछ सदस्यों को संदेह है कि हाल ही में छात्रों का एक ग्रुप जिसमें हॉस्टल में रहने वाले कुछ छात्र भी शामिल थे, डलहौजी ट्रिप पर गया था। इसके बाद लौटने पर उनमें से कुछ छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।   कॉलेज के एक सदस्य ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि हॉस्टल के लगभग दो दर्जन छात्र 31 मार्च को हॉस्टल में यात्रा से लौटे और उनमें लक्षण दिखने होने के बाद उनका टेस्ट किया गया। 

राजधानी में शुक्रवार को कोविड-19 के करीब 3,600 नए मामले सामने के साथ ही 14 और मरीजों की मौत हो गई। दिल्ली में शुक्रवार को सकारात्मकता दर 4.11% पहुंच गई। दिल्ली सरकार ने कहा है कि राजधानी में संक्रमण की चौथी लहर चल रही है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed