गाजीपुर बॉर्डर (नोएडा):राजस्थान में हुए भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत के काफिले पर हमले के विरोध में गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसानों का गुस्‍सा फूट पड़ा। प्रदर्शनकारी किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे को 1 घंटे से अधिक समय के लिए बंद कर दिया। इस दौरान किसानों ने प्रशासन से टिकैत की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े किए। वहीं, टिकैत की अपील के बाद करीब 1 घंटे से बंद पड़े हाइवे को किसानों ने खोल दिया। इससे पहले स्थिति इतनी तनावपूर्ण हो गई थी कि लाठीचार्ज किए जाने के हालात बन गए थे।शुक्रवार शाम करीब चार बजे राजस्थान के अलवर स्थित ततारपुर चौराहे पर टिकैत पर हमला किया गया। बीकेयू के अनुसार, हमलावर कई गाडि़यों में सवार थे। इसके अलावा ततारपुर चौराहे पर भी बीजेपी समर्थित कुछ लोग पहले से जमा थे। किसानों को हमले की जानकारी मिलते ही उन्‍होंने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की दिल्ली से आने वाली लेन को जाम कर दिया। शाम को दिल्ली से आने वाले वाहनों को काफी देर तक जाम में फंसे रहना पड़ा। भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने बताया, ‘राकेश टिकैत के निर्देश पर किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का जाम खोल दिया। करीब एक घंटे दिल्ली से आने वाले वाहनों के पहिए जाम रहे।’

राजस्थान में पहली पंचायत हरसौली में करने के बाद राकेश टिकैत अपने समर्थकों के साथ बांसूर में दूसरी पंचायत में शामिल होने जा रहे थे। वहीं बांसूर से करीब 20 किमी पहले ततारपुर चौराहे पर पहले से जमा कुछ लोगों एसयूवी कारों में सवार होकर आए हमलावरों की मदद से राकेश टिकैत के काफिले पर पत्थरों और लाठी-डंडों से हमला कर दिया। हालांकि समर्थकों और सुरक्षा कर्मियों की तत्परता के चलते हमलावर राकेश टिकैत को चोट नहीं पहुंचा पाए, लेकिन एक बीकेयू कार्यकर्ता अरविंद चोटिल हो गया।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *