लखनऊ के गोमतीनगर में बुधवार दोपहर घर के अंदर बढ़ई ने आईटीसी कंपनी के स्टॉकिस्ट डॉ. हर्ष अग्रवाल की पत्नी रुचि (38) की चाकू से ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी। बढ़ई ने घर में काम करने के दौरान रुचिका से दुकान खोलने के लिए रुपए मांगे थे। मना करने से नाराज बढ़ई दोपहर में घर में घुसा और रुचि की बेटी वामिका के गले पर चाकू रखकर रुपए देने को कहने लगा। इस पर वह बेटी को बचाने के लिए बढ़ई गुलफाम से भिड़ गई। रुचि की चीख सुनकर भाग रहे गुलफाम पर पालतू कुत्ते ने हमला बोल दिया। पर, घायल होने के बाद भी गुलफाम भाग निकला, जिसे पुलिस ने देर शाम गिरफ्तार कर लिया।

मूल रूप से गणेशगंज निवासी डॉ. हर्ष अग्रवाल चार महीने से पत्नी रुचि, बेटी प्रियांशी, वामिका और नौकर नंदलाल के साथ विश्वासखंड 1/39 में रह रहे थे। एमबीबीएस करने के बाद हर्ष डॉक्टरी की प्रैक्टिस करने के बजाए आईटीसी कम्पनी से जुड़ गए। उन्होंने घर का फर्नीचर बनवाने के लिए ठेकेदार कमरुद्दीन की मदद से गुलफाम को काम पर रखा था। ढाई महीने से गुलफाम और उसका साथी तलामुद्दीन घर पर काम कर रहे थे।

बुधवार सुबह हर्ष ट्रांसपोर्ट नगर स्थित दफ्तर चले गए। दोपहर करीब ढाई बजे रुचि ने पति को फोन किया था। उस वक्त रुचि दूसरी मंजिल पर बने कमरे में मौजूद थीं। दम्पति बच्चों की पढ़ाई को लेकर बात कर रहे थे। उसी दौरान गुलफाम कमरे में पहुंच गया। वह रुचि से रुपए मांगने लगा। रुचि ने हर्ष के घर आने के बाद बात करने के लिए कहा। यह सुनते ही गुलफाम ने चाकू निकाल लिया। बढ़ई के हाथ में चाकू देख रुचि चीख पड़ी। उनके हाथ से मोबाइल छूटकर जमीन पर गिर पड़ा। मां की चीख सुनकर प्रियांशी और वामिका कमरे में पहुंची। प्रियांशी वहां से चली गई थी, जबकि वामिका को गुलफाम ने पकड़ लिया था। इस पर ही रुचि उससे भिड़ गई और बढ़ई ने उनकी हत्या कर दी। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *