पश्चिम बंगाल में केशपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार प्रीतिश रंजन के वाहन पर गुरुवार को हमलाकर दिया गया। कार में प्रीतीश के अलावा बीजेपी नेता तन्मय घोष सहित सात लोग सवार थे। बीजेपी का आरोप है कि यह हमला टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने किया है। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इस बीच प्रीतिश रंजन ने बताया है कि किस तरह एक मुस्लिम महिला ने उन लोगों को घर में छिपाकर जान बचाई। 

प्रीतिश रंजन ने एएनआई से बात करते हुए कहा, ”मैं एक बूथ पर जा रहा था। हमारी कार के आगे पुलिस की QRT थी और पीछे लोकल मीडिया। जब हम वहां पहुंचे तो वहां तृणमूल कांग्रेस के गुंडे थे। मेरे सुरक्षाकर्मी मुझे कार तक ले गए, जहां गुडों ने ईंट और लाठियों से हमला कर दिया।” उन्होंने भी कहा कि उन लोगों के लिए जान बचाना मुश्किल हो गया था।

हमले को खौफनाक बताते हुए प्रीतिश ने कहा, ”हमारी कार में सात लोग थे और सभी पर हमला हुआ। सुरक्षाकर्मी मौजूद थे, लेकिन वे असहाय थे। हम अपनी जिंदगी बचाने के लिए रो रहे थे। हम लोग वहां से भागकर अल्पसंख्यक महिला के घर में घुस गए, जिसने हमें बचाया और हमारा ध्यान रखा।

पुलिस ने बताया कि घटना के संबंध में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अज्ञात लोगों के एक समूह ने वाहनों पर ईंट और लाठियों से हमला कर दिया और साथ ही मीडियाकर्मियों की कारों में तोड़फोड़ की। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय बलों का एक दल घटनास्थल पर पहुंचा है।
     
ईसी ने प्रशासन से इस पर एक रिपोर्ट भी मांगी है। पश्चिम मेदिनीपुर जिले के केशपुर इलाके में गत रात उत्तम दोलुई नाम के एक टीएमसी कार्यकर्ता की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण के तहत हाई प्रोफाइल नंदीग्राम समेत 30 सीटों पर मतदान चल रहा है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed