पूरी दुनिया आईपीएल का बेसब्री से इंतजार करती है। विश्व की सबसे रोमांचक टी-20 लीग शुरू होने में अब कुछ ही दिन बचे हैं। ऐसे में हर फ्रैंचाइजी ने अपनी कमर कस ली है। बीसीसीआई भी पूरी तरह तैयार है, लेकिन इस बार 14वें सीजन में कई नए नियम नजर आएंगे। बोर्ड ने बड़ा बदलाव करते हुए ऑन फिल्ड सॉफ्ट सिग्नल को हटाने का फैसला लिया है। साथ ही अब हर टीम को 90 मिनट के भीतर ही अपनी पारी खत्म करनी होगी।

क्रिकबज के मुताबिक, ‘बीसीसीआई ने सभी आठ आईपीएल टीम को एक मेल भेजा है, जिसमें इन सारे बदलावों के बारे में बताया गया है। मैच को तय समय में पूरा करने के उद्देश्य से प्रत्येक पारी के 20वें ओवर को 90 मिनट में खत्म करना होगा, पहले नियम 20वें ओवर को 90वें मिनट पर शुरू करने का था।

देरी या रुकावट वाले मैचों में, जहां निर्धारित समय में 20 ओवर न हो पाएं इसमें हर ओवर के लिए 4 मिनट 15 सेकंड अतिरिक्त हो सकते हैं।हर घंटे में औसतन 14.11 ओवर फेंकने होंगे ,इसमें टाइम-आउट शामिल नहीं होगा,मैच की एक पारी 90 मिनट में खत्म होनी चाहिए खेल के लिए 85 मिनट और पांच मिनट टाइम-आउट |

चौथे अंपायर की बढ़ी शक्ति

अगर कोई भी टीम समय बर्बाद करती हुई पाई जाती है तो चौथे अंपायर का रोल अहम हो जाएगा। सजा के तौर पर संशोधित ओवर-रेट नियम लागू करने और बल्लेबाजी पक्ष को चेतावनी देने की शक्तियां उन्हें दी गईं हैं। सॉफ्ट सिग्नल नियम के संबंध में, BCCI ने कहा कि ऑन-फील्ड अंपायर के संकेत का तीसरे अंपायर के निर्णय पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

सॉफ्ट सिग्नल और शॉर्ट रन पर बड़े फैसले

इसके मुताबिक, मैच के दौरान अब कोई भी मैदानी अंपायर थर्ड अंपायर से मदद लेते वक्त सॉफ्ट सिग्नल का इशारा नहीं करेगा। यह फैसला अंपायरिंग हित में लिया गया जिससे थर्ड अंपायर को अपना फैसला देने में किसी भी तरह की अड़चन न आए और न ही इसकी वजह से कोई विवाद हो। बीसीसीआई ने शॉर्ट रन नियम में भी संशोधन किया। अब थर्ड अंपायर शॉर्ट रन पर ऑन-फील्ड अंपायर की कॉल की भी जांच कर सकता है और मूल निर्णय को पलट सकता है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed