बिहार के अररिया जिले में दर्दनाक हादसा हुआ। भुट्टा पकाते समय उड़ी चिंगारी से एक घर में लगी आग में भाई-बहन समेत छह बच्चे जिंदा जल गए। घटना जिले के पलासी प्रखंड के कबैया गांव में मंगलवार की दोपहर एक बजे की है। जानकारी के अनुसार मंगलवार की दोपहर पलासी प्रखंड के कबैया गांव में भाई-बहन समेत छह बच्चे फूस के बने घर लोगों से छिपकर भुट्टा(Corn) पका रहे थे। इसी दौरान उड़ी चिंगारी से घर में आग लग गई और बच्चों को घर से निकलने का मौका तक नहीं मिल सका। जब तक बच्चों का शोर सुनकर लोग पहुंचते तब तक वे सभी आग में जिंदा जल गए। घटना में किसी भी बच्चे को बचाया नहीं जा सका। घटना के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई है। लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है।

मृतकों में युनुश का 5 वर्षीय बेटे अशरफ और 3 वर्षीय बेटी गुलनाज, मंजूर का 6 वर्षीय बेटा दिलवर, फारूक का 4 वर्षीय बेटा बरकस, मतीन का पांच वर्षीय बेटा अली हसन और तनवीर का 5 वर्षीय बेटा खुसनिहार शामिल है। घटना को लेकर ग्रामीणाें का कहना है कि खेलने के दौरान घटना घटी है। 

किशनगंज में एक ही परिवार के छह जिंदा जले
बता दें कि इससे पहले बीते 15 मार्च को बिहार के अररिया से सटे जिले किशनगंज में भी घर में आग लगने से एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत जिंदा जलने से हो गई थी। आग लगने के दौरान गैस सिलेंडर फटने से एक ही परिवार के गृह स्वामी और चार बच्चे जिंदा जल गए। मरने वालों में दो बेटियां भी शामिल है।  गैस सिलेंडर का धमाका इतना जोरदार था कि घटनास्थल पर शव तक क्षत विक्षत हो गया। वहीं हादसे में मृत गृह स्वामी की पत्नी भी गंभीर रूप से झुलस गईं थी।  

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *