महाराष्ट्र में कोरोना का महाविस्फोट लगातार जारी है। इस साल मार्च का महीना राज्य के लिए सबसे घातक साबित हुआ है। राज्य में एक बार फिर से लाकडाउन लगाए जाने की आशंका के बीच इस महीने के आंकड़े हैरान कर रहे हैं। राज्य में 1 से 29 मार्च के बीच ही कोरोना वायरस  के करीब 6 लाख नए मामले दर्ज किए गए हैं। महामारी की शुरुआत से ही महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है।

आंकड़ों से पता चलता है कि महाराष्ट्र में 1 से 29 मार्च के बीच कोरोना वायरस के 5 लाख 90 हजार 448 नए मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं, इससे पहले बीते साल सितंबर में 5 लाख 93 हजार 192 नए मामले आए थे।

साल 2021 की शुरुआत में महाराष्ट्र में कोरोना के मामले पिछले तीन महीनों की तुलना में तेजी से घट रहे थे। लेकिन इस महीने आए नए मामलों ने बीते चार महीनों को रिकॉर्ड तोड़ दिया है। नवंबर 2020 से फरवरी 2021 के बीच राज्य में कोरोना के 4 लाख 87 हजार 519 नए मामले आए थे।

सोमवार को राज्य में कोरोना वायरस के 31 हजार 643 नए मामले दर्ज किए गए और इस दौरान 102 मौतें हुईं। इससे एक दिन पहले यानी रविवार को राज्य में रिकॉर्ड 40 हजार 414 नए केस आए थे। फिलहाल राज्य में कोरोना वायरस के कुल 27 लाख 45 हजार 518 मामले आ चुके हैं और 54 हजार 283 लोग इसकी वजह से जान गंवा चुके हैं। 

17 मार्च के बाद से अब तक महाराष्ट्र में हर दिन 20 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज हो रहे हैं। इस महीने राज्य में कोरोना की वजह से 2 हजार 129 मौतें भी हुई हैं।

राज्य की बनाई टास्क फोर्ट के सदस्य डॉक्टर राहुल पंडित के मुताबिक, फिलहाल महाराष्ट्र में यह आंकड़ा बढ़ेगा क्योंकि टेस्ट भी बढ़ा दिए गए हैं। सोमवार को राज्य में पॉजिटिविटी दर 14.08 प्रतिशत थी जबकि रिकवरी दर 85.71 प्रतिशत। राज्य में पिछले कुछ हफ्तों से हर दिन 1 लाख से ज्यादा टेस्ट किए जा रहे हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed