मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अपने सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से 13 जनपदों में राजस्व विभाग के तहत लगभग 118 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 18 आवासीय-अनावासीय भवनों का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीक का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल कर जनता की समस्याओं का तेजी से निस्तारण कराएं। इस अनावासीय भवनों में कार्यालय स्थापित होंगे, जिससे जनता के कार्य आसानी से किया जा सकेंगे। इन भवनों में एक ही जगह पर विभिन्न विभागों के कार्यालय मौजूद रहेंगे, जिससे जनता सुगमता से अपने कार्य करवा सकेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी विभाग शासन की मंशा के सभी कार्यों को समय से पूरा करें। सरकार जनता की समस्याओं के त्वरित एवं प्रभावी निराकरण के लिए कटिबद्ध है। आवासीय भवनों को सरकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आवंटित किया जाएगा। इससे जहां एक ओर इन लोगों की आवासीय समस्या का समाधान होगा, वहीं दूसरी ओर कार्यालय के समीप स्थित होने से आवागमन में ज्यादा समय नष्ट नहीं होगा। इससे यह अधिकारी-कर्मचारी कार्यालय में अधिक समय देकर जनसमस्याओं का निराकरण प्रभावी ढंग से कर सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्व विभाग द्वारा इन भवनों का निर्माण समयबद्धता के साथ पूरी गुणवत्ता से किया गया है। इन भवनों में स्थापित कार्यालयों के माध्यम से अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लागू की गई स्वामित्व योजना पर तेजी से कार्य किया जा सकेगा। साथ ही, घरौनी के कार्य में भी तेजी लाई जा सकेगी। मुख्यमंत्री ने विभिन्न जनपदों में मौजूद पुराने सरकारी भवनों की स्थिति की समीक्षा करने के निर्देश दिए। 

मुख्यमंत्री ने जिन आवासीय भवनों का लोकार्पण किया, उनमें तहसील जमुनहा श्रावस्ती, तहसील खतौली मुजफ्फरनगर, तहसील नर्वल कानपुर नगर, तहसील बांगरमऊ उन्नाव, तहसील गौरीगंज अमेठी तथा तहसील अजीतमल औरैया शामिल हैं। छह जनपदों में निर्मित इन आवासीय भवनों के निर्माण पर लगभग 33 करोड़ 51 लाख रुपये की लागत आयी है।

इसी प्रकार तहसील जलालाबाद शाहजहांपुर, तहसील सदर हमीरपुर, तहसील जमुनहा श्रावस्ती, तहसील पाली ललितपुर, मण्डलायुक्त चित्रकूट धाम मण्डल बांदा के कार्यालय के अनावासीय भवन, तहसील पैलानी बांदा, तहसील नरैनी  बांदा, तहसील बांगरमऊ उन्नाव, तहसील हसनगंज उन्नाव, तहसील पयागपुर बहराइच, तहसील खलीलाबाद संतकबीरनगर तथा तहसील लम्भुआ सुलतानपुर में अनावासीय भवनों का निर्माण किया गया है। इन 12 जनपदों में निर्मित अनावासीय भवनों के निर्माण पर लगभग 84 करोड़ 47 लाख रुपये की लागत आयी है। कार्यक्रम को वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना तथा राजस्व एवं बाढ़ नियंत्रण राज्य मंत्री विजय कुमार कश्यप ने भी संबोधित किया। राजस्व परिषद के अध्यक्ष डॉ. दीपक त्रिवेदी ने अतिथियों का स्वागत किया।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed