भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश के 18 राज्यों में कोरोना वायरस का एक नया ‘डबल म्यूटेंट’ वैरिएंट मिला है.

साथ ही मंत्रालय ने ये भी कहा है कि अभी तक के आंकड़ों से यह स्पष्ट नहीं है कि क्या देश में कोरोना के बढ़ रहे संक्रमण और वायरस के नए किस्म में कोई संबंध है.

कोरोना वायरस का यह नया वैरिएंट विदेशों में भी मिल चुका है. पिछले कुछ वक़्त से दुनिया समेत भारत में कोरोना संक्रमण के मामले एक बार फिर तेज़ी से बढ़ रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कोरोना की नई किस्म के अभी पर्याप्त मामले नहीं मिले हैं. हालाँकि बताया गया है कि वायरस की यह नई किस्म शरीर के इम्यून सिस्टम से बचकर संक्रामकता को बढ़ाता है.

वायरस का यह म्यूटेशन क़रीब 15 से 20 फ़ीसदी नमूनों में पाया गया है जबकि यह चिंता पैदा करने वाली पहले की किस्मों से मेल नहीं खाता.

महाराष्ट्र से मिले नमूनों के विश्लेषण से पता चला है कि दिसंबर 2020 की तुलना में नमूनों में ई484क़्यू और एल452आर म्यूटेशन के अंशों में बढ़ोतरी हुई है.

अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के देश आने पर और अन्य रोगियों से लिए गए नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग और इसके विश्लेषण के बाद पाया गया है कि इस किस्म से संक्रमित लोगों की संख्या 10 है.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed