पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी में सोमवार तड़के यौन संबंध के लिए दबाव बनाने पर युवक ने अपने दोस्त की पीट-पीटकर हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपी मयूर विहार थाने में समर्पण करने के लिए जा रहा था तभी रास्ते में कपड़े पर लगे खून को देखकर पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पुलिस आरोपी 22 वर्षीय मोनू से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

32 वर्षीय भरत परिवार के साथ त्रिलोकपुरी के ब्लॉक नंबर-11 में रहता था। परिवार में माता-पिता, तीन भाई और एक बहन है। भरत एक ऑनलाइन कंपनी में डिलीवरी ब्वॉय था। वहीं, आरोपी मोनू त्रिलोकपुरी के ब्लॉक नंबर-32 में रहता है। मोनू और भरत दोस्त थे। उनकी मुलाकात तीन वर्ष पहले फेसबुक पर हुई थी। मृतक भरत के परिजनों ने बताया कि मोनू रविवार शाम को उनके घर आया था और भरत को अपने साथ ले गया था। दोनों ने एक पार्टी में जाने की बात कही थी।

आरोप है कि पार्टी से निकलने के बाद मोनू ने भरत को शराब पिलाई और पूरी रात अपने साथ घुमाता रहा। सोमवार तड़के करीब चार बजे मोनू ने त्रिलोकपुरी के ब्लॉक नंबर-17 में वसुंधरा एन्क्लेव रोड के किनारे पत्थर से पीट-पीटकर भरत की हत्या कर दी।

पुलिस के अनुसार, हत्या के बाद आरोपी मोनू पैदल ही मयूर विहार थाने में समर्पण करने के लिए जाने लगा। तभी रास्ते में गश्त कर रहे पुलिसकर्मी मिले। पुलिसकर्मियों ने उसके कपड़े पर लगे खून को देखकर उससे पूछताछ की तो उसने अपने दोस्त की हत्या करने की बात कही। पुलिस उसे तुरंत लेकर घटना स्थल पर पहुंची और भरत का शव बरामद किया।

यौन संबंध के लिए दबाव बनाता था
आरोपी मोनू ने पुलिस को बताया कि भरत और उसके बीच यौन संबंध थे। लेकिन, भरत अब यौन संबंध के लिए लगातार उस पर दबाव बनाने लगा था। साथ ही उसे धमकी भी देता था। इससे मोनू की शादीशुदा जिंदगी खतरे में आ गई थी। मोनू ने भरत से पीछा छुड़ाने के लिए उसकी हत्या की योजना बनाई और सोमवार तड़के वारदात को अंजाम दे दिया।

इस तरह शुरू हुई थी दोस्ती
पुलिस के अनुसार, मोनू और भरत की तीन साल पहले फेसबुक पर दोस्ती हुई थी। दोनों त्रिलोकपुरी के रहने वाले थे तो एक-दूसरे से मिलने-जुलने लगे। कुछ समय बाद दोनों ने यौन संबंध बनाना शुरू कर दिया। आरोप है कि मोनू की यौन संबंध में कम रुचि थी, जबकि भरत लगातार संबंध के लिए उस पर दबाव बना रहा था।

परिजनों ने कहा, आरोपी ने उधार लिए थे रुपये
भरत के परिजनों के अनुसार, आरोपी मोनू ने दो साल पहले भरत से सवा लाख रुपये उधार लिए थे। इन रुपयों से आरोपी ने बाइक खरीदी थी। भरत अब मोनू से रुपयों की मांग कर रहा था। इसके चलते मोनू उससे खफा था। वहीं पुलिस के अनुसार, रुपयों के लेन-देन को लेकर जांच की जा रही है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed