मध्य प्रदेश में पहली बार, इंदौर के सेंट्रल जेल में कैदियों को COVID-19 का टीका लगाया जा रहा है। यहां कई कैदियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। सेंट्रल जेल के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट लक्ष्मण सिंह भदौरिया ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया, “पिछले एक साल में, कई कैदियों और जेल कर्मचारी कोरोना पाए गए थे। इनके लिए अस्थायी जेल और क्वारंटीन केंद्र भी बनाए गए थे। हालांकि इस दौरान किसी की भी मौत नहीं हुई। वर्तमान में पांच कैदी और दो स्टाफ कोरोना पॉजिटिव हैं, जिनका इलाज चल रहा है।”

जेल अधिकारियों के अनुसार, यह मध्य प्रदेश की पहली जेल हैं जहां अधीक्षक राकेश भांगड़ा ने जिला प्रशासन के साथ मिलकर एक टीकाकरण शिविर लगवाया है। उन्होंने कहा, आज भी कोरोना के कुल 300 टीके प्राप्त हुए। कैदियों और कुछ कर्मचारियों का टीकाकरण किया गया।  इनमें वे भी शामिल हैं जो 45 वर्ष से अधिक उम्र के हैं और उन्हें कोई बीमारी है। साथ ही जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है। 

उन्होंने आगे कहा कि उप-अधीक्षक भदोरिया सहित जेल के कर्मचारियों में से 90 प्रतिशत लोग टीकाकरण करवा चुके हैं।

जेल में वैक्सीन का संचालन करने वाले डॉ. विवेक सिंह चौहान ने कहा, “कोविशिल्ड वैक्सीन की 300 खुराक प्राप्त हुई हैं। सभी कैदियों का टीकाकरण किया जाना है। आज 150 लोगों को टीका लगाया जाएगा। शेष टीकाकरण आगे भी जारी रहेगा। मध्य प्रदेश में जेल में टीकाकरण किया जा रहा है।”

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, मध्य प्रदेश उन आठ राज्यों में शामिल है, जहां रोजोना सामने आ रहे नए मामले लगातार बढ़ रहे हैं। राज्य में पिछले 24 घंटों में 1,140 नए मामले सामने आए हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *