उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें शख्स की हत्या के आरोप में चार लोगों को सालों तक सलाखों के पीछे रहना पड़ा। जब वह शख्स जिंदा सामने आया तो सभी के होश उड़ गए। मामला भदोही के गोपीगंज थाना क्षेत्र के चकनिरंजन गांव का है। 


जानकारी के अनुसार, चकनिरंजन गांव में 13 वर्ष पहले अपहरण और हत्या की साजिश रचकर गांव के चार लोगों के खिलाफ संबंधित मामले में मुकदमा दर्ज कर जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया गया था। उस मामले में 13 वर्ष बाद आरोपियों के परिजनों ने उस शख्स को जिंदा देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया।


घटना के बारे में अपहरण, हत्या के मामले में आरोपी चकनिरंजन गांव निवासी दूधनाथ तिवारी ने बताया कि सन 2008 में उनके पड़ोसी जोखन तिवारी ने मेरी पत्नी को किसी बात को लेकर मारा पीटा था। जिसका विरोध करने के बाद उसने मेरे पूरे परिवार को फंसाने की साजिश रची थी।
साजिश के तहत जोखन ने गांव से थोड़ी ही दूरी पर अपने पाही में कुत्ते को मारकर उसका खून आसपास फैला दिया था। इसके बाद वह खुद गायब हो गया था। इस मामले में जोखन के परिजनों ने उनके परिवार पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें दूधनाथ तिवारी, उनके भाई काशीनाथ तिवारी भी शामिल थे। वहीं, जौनपुर जिले के थाना रामपुर थाना क्षेत्र के नेवादा के रहने वाले उनके दो साले वंश नाथ तिवारी और छोटन तिवारी को भी आरोपी बनाया गया था।

इनके खिलाफ गोपीगंज थाने में धारा 364 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था, जिसमें चारों को जेल भेजा था। चार साल तक सलाखों के पीछे रहने वाले चारों लोगों को हाईकोर्ट से जमानत मिली। उन्होंने बताया कि लगभग 13 साल बाद जोखन तिवारी बुधवार की सुबह छिप-छिपाकर अपने घर आया था। जिसे उनकी पत्नी शकुंतला ने देख लिया था।
इसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी पति दूधनाथ को दी। फिर तुरंत इसकी सूचना पीआरबी 2290 को दी गई। मौके पर पहुंची पीआरबी ने जोखन तिवारी को हिरासत में ले लिया और गोपीगंज थाना ले आई। जहां पुलिस मामले की छानबीन में लगी है।

दूधनाथ के परिजनों ने आरोप लगाया कि जोखन तिवारी अपनी पत्नी से छुप-छुप कर मिलने भी आया करता था। जिसका परिणाम था कि गायब होने के बाद भी उसको दो पुत्र पैदा हुए थे। उसी के बाद से हम लोगों को शक था कि जोखन तिवारी जिंदा है। इसकी तलाश में हम लोग लगे हुए थे।

कोतवाल केके सिंह ने बताया कि जोखन को हिरासत में ले लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है। जांच के बाद दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *