वाराणसी:स्पेन की रहने वाली मारिया ने कमाल कर दिखाया है। वाराणसी के संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में मारिया ने संस्कृत में पूर्व मीमांसा विषय से न सिर्फ आचार्य की डिग्री हासिल, बल्कि विश्वविद्यालय में टॉप भी किया। पूर्व मीमांसा में टॉप करने वाली विदेशी गर्ल मारिया को मंगलवार को यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने गोल्ड मेडल और प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया।

एनबीटी ऑनलाइन से बातचीत में मारिया ने बताया कि संस्कृत एक ऐसी भाषा है। जिसमें सम्पूर्ण विश्व का ज्ञान छिपा है। यही वजह है कि स्पेन से संस्कृत की शिक्षा के लिए वो काशी आई और सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्ववविद्यालय से इसकी शिक्षा ग्रहण की। उन्होंने आगे कहा कि गुरुओं के आशीर्वाद से आज उन्हें आचार्य की उपाधि मिली है। मारिया अपनी मातृ भाषा स्पेनिश के अलावा हिंदी, संस्कृत, अंग्रेजी सहित कई भाषाओं की जानकार हैं।

विदेशों में करेंगी प्रचार
मारिया ने बताया कि देव भाषा संस्कृत का प्रचार-प्रचार वो अपने देश में भी करेंगी। विदेशों में जो लोग संस्कृत पढ़ना चाहेंगे, उन्हें वो इसकी शिक्षा भी देंगी। इसके साथ ही उन्होंने भारतीयों से ये अपील कि वो अपने इस पौराणिक भाषा संस्कृत का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार करें।

राज्यपाल ने भी की सराहना
मारिया को गोल्ड मेडल देकर यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी उनकी तारीफ की। आनंदीबेन पटेल ने कहा कि यह मेडल मात्र एक भाषा और विषय को नहीं, बल्कि इस बात को भी दर्शाता है कि हमारी सभ्यता और संस्कृति आगे बढ़ रही है।

29 मेधावियों को मिले 57 मेडल
सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्ववविद्यालय के 38वें दीक्षांत समारोह में विश्वविद्यालय के शताब्दी भवन में 29 मेधावियों को कुल 57 मेडल मिले। यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने दीक्षांत समारोह का उद्घाटन किया। आचार्य साहित्य की मीना कुमारी को सबसे ज्यादा मेडल मिले।राज्यपाल ने भी की सराहनामारिया को गोल्ड मेडल देकर यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी उनकी तारीफ की। आनंदीबेन पटेल ने कहा कि यह मेडल मात्र एक भाषा और विषय को नहीं, बल्कि इस बात को भी दर्शाता है कि हमारी सभ्यता और संस्कृति आगे बढ़ रही है।29 मेधावियों को मिले 57 मेडलसम्पूर्णानंद संस्कृत विश्ववविद्यालय के 38वें दीक्षांत समारोह में विश्वविद्यालय के शताब्दी भवन में 29 मेधावियों को कुल 57 मेडल मिले। यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने दीक्षांत समारोह का उद्घाटन किया। आचार्य साहित्य की मीना कुमारी को सबसे ज्यादा मेडल मिले।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *