पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत देने के लिए नागालैंड में टैक्स में कटौती की गई है। पेट्रोल और अन्य मोटर स्प्रिट पर कर की दर को 29.80% से घटाकर 25% प्रति लीटर या 18.26 रुपये से घटाकर 16.04 रुपये प्रति लीटर (जो भी अधिक हो) कर दिया गया है। वहीं, डीजल के लिए कर की दर 11.08 रुपये से घटाकर 10.51 रुपये प्रति लीटर या 17.50% से घटाकर 16.50 और प्रति लीटर (जो भी अधिक हो) कर दी गई है।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार पेट्रोल की रिकॉर्ड कीमतों को लेकर धर्म संकट का सामना कर रही है, लेकिन नागालैंड के अलावा चार राज्यों ने ग्राहकों को पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से राहत दी है। इन राज्यों ने टैक्स घटाया है।

पेट्रोल पर टैक्स कम करने वाले राज्यों की गिनती में मंगलवार को नागालैंड भी शामिल हो गया। इससे पहले पश्चिम बंगाल, मेघालय, राजस्थान और असम की सरकारों ने टैक्स कम किए थे। राजस्थान में 29 जनवरी को वैट 38 फीसदी से 36 फीसदी किया गया था।असम ने भी 12 फरवरी को 5 रुपये टैक्स में कम किये। यहां चुनाव होने वाले हैं। ये पांच रुपये बीचे साल कोविड-19 से लड़ने के लिए राज्य में लगाया गया था। मेघालय में सरकार ने पेट्रोल पर 7.40 रुपये और डीजल पर 7.10 रुपये कम किये। 

आपको यह भी बता दें कि केंद्र सराकर ने एक्साइज ड्यूटी पर कटौती करने से साफ मना कर दिया। केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 13 रुपये और डीजल पर 16 रुपये ड्यूटी के जरिये बढ़ाया है। अभी तक केंद्र सराकर ने एक्साइज ड्यूटी पर कटौती करने से साफ मना कर दिया। केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 13 रुपये और डीजल पर 16 रुपये ड्यूटी के जरिये बढ़ाया है। मार्च से मई 2020 के बीच भारत की कच्चा तेल खरीदने की लागत 19.9 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई थी क्योंकि तब कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन लगा हुआ था।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *