मध्य अफ्रीकी देश कांगो में सोमवार को यूएन के खाद्यान्न कार्यक्रम से जुड़े एक दल पर विद्रोहियों ने घात लगाकर हमला कर दिया। इसमें कांगो में पदस्थ इटली के राजदूत, एक इतालवी पुलिस अधिकारी एवं उनके वाहन चालक की मौत हो गई।

घटना उस वक्त हुई जब वे कांगो के उस इलाके की यात्रा कर रहे थे, जो अनेक विद्रोही समूहों का गढ़ है। संयुक्त राष्ट्र खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) ने बयान में कहा कि जब काफिला कांगो के पूर्वी क्षेत्र की राजधानी गोमा से रुतशुरू में विश्व खाद्य कार्यक्रम स्कूल भोजन परियोजना के लिए जा रहा था तभी घात लगाकर हमला किया गया। डब्ल्यूएफपी ने बताया कि हमले में वर्ष 2017 से कांगो में इतालवी राजदूत की जिम्मेदारी संभाल रहे लुका अतानासियो, इतालवी पुलिस अधिकारी विट्टोरियो इयाकोवाक्की और उनका चालक मारे गए, जबकि काफिले के दो अन्य घायल हुए हैं।

इटली के राष्ट्रपति ने संवेदना व्यक्त की

इटली के राष्ट्रपति सर्जियो मैतरेल्ला और प्रधानमंत्री मारियो द्राघी ने पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। इटली के विदेश मंत्री लुइगी दी माइयो ने भरोसा दिया है कि हत्या के जिम्मेदार लोगों का पता लगाया जाएगा। उन्होंने बयान में कहा, ” इस नृशंस हमले की परिस्थितियां अब भी अस्पष्ट हैं और इसके कारणों का पता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।”राजदूत लुका अतानासियो 2017 में किंशासा में पदस्थ हुए थेजानकारी के मुताबिक लुका अतानासियो सितंबर 2017 में किंशासा में बतौर राजदूत कार्यभार संभालने से पहले स्विटजरलैंड, मोरोक्को एवं नाइजीरिया में राजनयिक की जिम्मेदारी निभा चुके थे। अतानासियो को अक्टूबर 2020 में दक्षिण इटली के एक चर्च में आयोजित समारोह में नस्सीरिया अंतरराष्ट्रीय शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *