महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों पर प्रशासन बेहद सख्त हो गया है। अमरावती जिले में प्रशासन ने 22 फरवरी को रात 8 बजे से 1 मार्च तक के लिए कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है। यह कर्फ्यू 1 मार्च को सुबह 6 बजे समाप्त होगा। इस कर्फ्यू के दौरान बेहद सख्ती रहेगी और जरूरी सामान बेचने वाली दुकानों पर भी प्रतिबंध लागू रहेंगे। राशन, सब्जी, फल और दूध आदि जरूरी चीजें बेचने वाली दुकानें भी सुबह 8 बजे से दोपहर तीन बजे तक ही खुलेंगी।

पुणे, नागपुर और मुंबई जैसे अहम शहरों में एक बार फिर से कोरोना सिर उठाने लगा है। तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों से चिंतित प्रदेश सरकार एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने का फैसला ले सकती है। सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि अगले 8 दिन अहम रहने वाले हैं। यदि लोगों ने लापरवाही बंद नहीं की और कोरोना के मामलों में यूं ही इजाफा होता रहा तो फिर लॉकडाउन का फैसला लेना पड़ सकता है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी महाराष्ट्र और केरल जैसे राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जताई है। इन दोनों राज्यों के अलावा मध्य प्रदेश और पंजाब जैसे राज्य भी चिंता की वजह बने हुए हैं।

इस बीच महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में किसी भी तरह के जमावड़े पर रोक का ऐलान किया है। अगले आदेश तक राज्य में राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रमों में जमावड़े पर रोक लगा दी गई है। उद्धव ठाकरे ने सोमवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस की दूसरी लहर आई है या नहीं यह दो हफ्ते में साफ हो जाएगा। उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस बीमारी के खिलाफ लड़ाई विश्व युद्ध के समान है और संक्रमण के खिलाफ मास्क एक प्रभावी ढाल है। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *