पश्चिम बंगाल में कोयला चोरी मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के परिवार पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का शिकंजा कसता जा रहा है। ममता के भतीजे और तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा के अलावा उनकी साली मेनका गंभीर को भी नोटिस जारी किया गया है। मेनका को कोयला मामले में सोमवार को पूछताछ में शामिल होने के लिए बुलाया गया है, जहां जांच एजेंसी के अधिकारी उनसे पूछताछ करेंगे। इस घटनाक्रम ने पश्चिम बंगाल में राजनीतिक तापमान को और बढ़ा दिया है, जहां अप्रैल-मई में चुनाव होने वाले हैं।

सीबीआई की एक टीम द्वारा परिवार के सदस्यों के खिलाफ नोटिस जारी किए जाने के बाद अभिषेक ने ट्वीट किया था कि आज दोपहर 2 बजे, सीबीआई ने मेरी पत्नी के नाम पर एक नोटिस दिया। हमें कानून पर पूरा भरोसा है। हालांकि, अगर उन्हें लगता है कि अगर वे इन हथकंडों का इस्तेमाल कर हमें डरा-धमका लेंगे तो वे गलत हैं। हम वे लोग नहीं हैं जो झुक जाएं।

वहीं, सीबीआई की कार्रवाई के बाद ममता बनर्जी ने एक कार्यक्रम में कहा कि हमें जेल से डराने की कोशिश न करें, हमने बंदूकों के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और हम चूहों के खिलाफ लड़ाई से नहीं डरते। उन्होंने कहा कि उनकी मातृभाषा बांग्ला ने उन्हें बाघ की तरह लड़ना सिखाया है और वह चूहों से नहीं डरतीं। किसी व्यक्ति या किसी राजनीतिक दल का नाम लिए बिना तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि उन्होंने हारना नहीं सीखा है। मुख्यमंत्री ने एक कार्यक्रम में कहा, ”जब तक मैं जीवित हूं, मैं किसी डर या धमकी से नहीं डरने वाली।”

उधर, तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने आरोप लगाया कि बनर्जी की पत्नी को केंद्रीय जांच एजेंसी ने ऐसे दिन नोटिस थमाया है, जब एक दिन बाद कोलकाता की एक अदालत में बनर्जी द्वारा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ दायर किए गए मानहानि के मामले में सुनवाई होनी है।

‘तृणमूल कांग्रेस इतनी डर और तनाव में क्यों?’  
इस मामले में बीजेपी ने तृणमूल कांग्रेस के नेताओं पर सवाल खड़े किए। बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने कहा कि अगर कुछ भी गलत नहीं किया है तो तृणमूल कांग्रेस इतना भयभीत और तनाव में क्यों है? भगवा दल के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ”यदि किसी ने कुछ गलत किया है तो कानून अपना काम करेगा। जो दोषी हैं, उन्हें दंड मिलना चाहिए। किसी को भी मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए।” इसके अलावा, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर चौधरी ने कहा कि सीबीआई को बिना किसी राजनीतिक हस्तक्षेप के जांच करनी चाहिए।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed