कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) से जुड़े करीब 40 लाख भविष्य निधि (पीएफ) अंशधारकों के खाते में ब्याज का पैसा जमा नहीं हुआ है। वहीं, सरकार करीब डेढ़ महीने पहले ही वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ब्याज का पैसा पीएफ खातों में जमा करने का ऐलान कर चुकी है। करीब 8 से 10 फीसदी पीएफ अंशधारकों का ब्याज उनके खाता में जमा नहीं हुआ है। यह बेमेल केवाईसी की वजह से हुई है।  ईपीएफओ ने इसकी वजह नियोक्ताओं द्वारा उपलब्ध कराई गई बेमेल केवाईसी (जानें अपने ग्राहक) को ठहराया है। 

घर बैठे केवाईसी कराएं

पीएफ खाता में केवाईसी पूरी करने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं होगी। आप घर बैठे अपनी केवाईसी करा सकते हैं। आप यूएएन पोर्टल पर जाकर केवाईसी का विकल्प क्लिक करें और सामने खुली विंडो में पैन, आधार, मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट वाले सेक्शन पर एक-एक करके क्लिक करें। अपनी जानकारी भर दें और सब्मिट कर दें। अब आपका पैन और आधार जुड़ जाएगा। हालांकि, इसको सत्यापित कराने के लिए आपको अपने नियोक्ता से कहना होगा। नियोक्ता के सत्यापित करते ही आप ऑनलाइन सुविधा का लाभ ले सकेंगे।

केवाईसी पूरा नहीं होने पर कई तरह के नुकसान

भविष्य निधि खाते का केवाईसी होना बहुत जरूरी है। अगर केवाईसी सही नहीं या पूरा नहीं हुआ है तो आप ईपीएफओ की ऑनलाइन सर्विस का फायदा नहीं उठा सकते हैं। केवाईसी के बिना पीएफ खातों से पैसा नहीं निकाला जा सकता। केवाईसी नहीं होने पर ईपीएफओ के मेंबर ई-सेवा पोर्टल की कई ऑनलाइन सेवाओं का लाभ नहीं ले पाएंगे। इनमें निकासी, खाता ट्रांसफर करना, नॉमिनी बनाना जैसी सेवाएं शामिल हैं।

खाते में जमा रकम पता करना आसान

ईपीएफओ अंशधारकों के लिए अपने पीएफ खाता में जमा रकम का पता लगाना आसान हो गया है। ईपीएफओ की नई सुविधा के अनुसार अब ईपीएफओ खाता धारकों को अपने पीएफ खाते का बैलेंस पता करने के लिए यूएएन नंबर की जरूरत नहीं होगी। अंशधारक अब यूजर सिर्फ अपना विवरण जमा करके भी पीएफ का बैलेंस पता कर सकते हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *