उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के असोहा में बुधवार को खेत में बुआ भतीजी के शव और चचेरी बहन के गंभीर हालत में मिलने की घटना का खुलासा करते हुए लखनऊ आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने बताया कि तीनों की कीटनाशक पिलाकर हत्या की गई।

आरोपी विनय ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पूछताछ के दौरान उसने पुलिस को बताया कि वह तीनों में से एक लड़की से एकतरफा मोहब्बत करता था। लड़की के इनकार करने पर विनय को ये बात सहन नहीं हुई।

उसने पानी की बोतल में कीटनाशक मिलाकर उसे पिलाया। अन्य दोनों बहनों ने भी वो कीटनाशक पी लिया। जिसे उनकी मौत हो गई। तीनों लड़कियां दोनों आरोपी लड़कों को जानती थी। आरोपियों ने उन्हें गेहूं में रखने वाली कीटनाशक पिलाई थी।

आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने बताया कि घटना के बाद मुखबिर की सूचना पर कुछ लोगों को उठाकर उनसे पूछताछ की जा रही थी। इसी दौरान दोनों बच्चियों के अंतिम संस्कार के बाद जब डॉग स्क्वाड को घटना स्थल पर ले जाया गया तो वह वहां से गांव की एक दुकान पर पहुंचा। 

फोरेंसिक ने दुकान से सभी नमकीन और चिप्स को जांच के लिए कब्जे में लिया। पूछताछ के दौरान दुकानदार ने बताया कि घटना से पहले लड़कियां उसकी दुकान से नमकीन खरीदने आईं थी। पुलिस को जांच के दौरान खेत से भी एक नमकीन का पैकट मिला था। एक के बाद एक मिले सुरागों के जरिए पुलिस विनय तक पहुंच गई। 

पूछताछ के दौरान विनय ने बताया कि वह जिससे प्यार करता था उससे बात करने के लिए फोन नंबर मांग रहा था। लड़की के कई बार मना करने पर यह बात उसे बर्दाशत नहीं हुई। जिसके बाद गुस्से में उसने एसा कदम उठाया।

बता दें कि चचेरी बहन रोशनी की हालत नाजुक है। उसका इलाज कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है। काजल के पिता ने घटना के 18 घंटे बाद गुरुवार को असोहा थाने में हत्या की शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर कुछ लोगों को हिरासत में लिया था। वहीं दोनों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पॉइजनिंग की पुष्टि हुई थी।

 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *