नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज कोविड-19 मैनेजमेंट की वर्कशॉप में संबोधन दिया. इसमें उन्होंने बताया कि भारत में कोरोना डेथ रेट बाकी देशों के मुकाबले सबसे कम है. इसके साथ उन्होंने भविष्य में ऐसे खतरों को लेकर तैयार रहने के लिए भी कहा है. इस वर्कशॉप में भारत के 10 पड़ोसी देशों के अधिकारी उपस्थित थे. बता दें कि इस कार्यशाला में भारत के साथ ही अफगानिस्‍तान, बंग्‍लादेश, भूटान, मालदीव, मॉरिशस, नेपाल, पाकिस्‍तान, शिशेल्‍स और श्रीलंका शामिल हैं.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि कोरोना महामारी से निपटने में तकनीक का उपयोग महत्वपूर्ण है. उन्हेंने कहा कि भारत ने दूसरे देशों से मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट की जानकारी और कोरोना टेस्टिंग के बारे में भी जानकारी साझा की. पीएम नरेंद्र मोदी ने यहां पड़ेसी देशों से एक अनुरोध भी किया. पीएम मोदी ने आगे कहा कि डॉक्टर और नर्सों के लिए स्पेशल वीजा स्कीम के संबंध में विचार किया जाना चाहिए.

पीएम मोदी ने कहा कि इसकी सहायता से यदि किसी देश में आपातकालीन स्थिति हुई तो आवश्यकता पड़ने पर उन वीजा की मदद से डॉक्टर-नर्स उस देश में जाकर सेवाएं दे सकेंगे. इसके साथ ही पीएम मोदी ने सभी पड़ोसी देशों के नागर विमानन मंत्रालयों से अनुरोध किया कि एक एयर एम्बुलेंस अग्रीमेंट के संबंध में विचार किया जाए.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *