बिहार में एक सप्ताह के अंदर फ्रंटलाइन वर्करों के कोरोना टीकाकरण पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने पहले चरण के स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना टीका का दूसरा डोज दिए जाने के साथ ही दूसरे चरण के फ्रंटलाइन वर्करों को कोरोना टीका दिए जाने को लेकर पूरी तैयारी की है। विभाग को मार्च मेंतीसरे चरण के तहत 50 वर्ष से कम गंभीर रोगों से पीड़ित एवं 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को टीका दिए जाने की तैयारी शुरू करनी है। ऐसे में विभाग अधिक दिनों तक फ्रंटलाइन वर्करों के टीकाकरण को संचालित किए जाने से बचते हुए इसे जल्द समाप्त करने की तैयारी में है।  

अबतक 2.5 लाख फ्रंटलाइन वर्करों ने कराया है निबंधन 
विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कोरोना टीकाकरण को लेकर अबतक ढाई लाख फ्रंटलाइन वर्करों ने निबंधन कराया है। इनमें पुलिसकर्मी, केंद्रीय अर्धसैनिक बल, सैन्य पुलिस, नगर विकास विभाग, आपदा प्रबंधन विभाग, प्रशासनिक अधिकारी व पदाधिकारी शामिल हैं। 

98,481 फ्रंटलाइन वर्करों को मिला है टीका 
राज्य स्वास्थ्य समिति के अनुसार राज्य में अबतक 98 हजार 481 फ्रंटलाइन वर्करों को कोरोना टीका का पहला डोज दिया जा चुका है। इनमें 90 हजार 995
फ्रंटलाइन वर्करों को कोविशील्ड का टीका एवं 7486 फ्रंटलाइन वर्करों को कोवैक्सीन का टीका दिया गया है। 

चार दिन फ्रंटलाइन वर्करों का होगा टीकाकरण 
विभाग के अनुसार फ्रंटलाइन वर्करों को सप्ताह में चार दिन कोरोना टीका दिए जाएंगे जबकि पहले चरण के स्वास्थ्यकर्मियों को दो दिन दूसरे डोज का टीका दिए जाने का निर्णय लिया गया है। विभाग के अनुसार सोमवार व मंगलवार को पहले चरण के स्वास्थ्यकर्मियों को टीका का दूसरा डोज एवं बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार एवं शनिवार को फ्रंटलाइन वर्करों को टीका का पहला डोज दिया जाएगा।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *