भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट मैच दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में होने वाला है। 24 फरवरी से अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में तीसरा टेस्ट डे-नाइट खेला जाना है। हालांकि अब इस स्टेडियम को सरदार पटेल स्टेडियम के नाम से भी जाना जाता है। फिलहाल दर्शकों के लिए स्टेडियम 50 प्रतिशत की क्षमता के साथ खोला जा रहा है। जबकि इसमें 1 लाख 10 हजार दर्शकों की बैठने की क्षमता है।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जब भारत दौरे पर आये थे तब इसी स्टेडियम में ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। ट्रंप ने यहीं से जनता को संबोधित किया था। आइए जानते हैं कहां बना है दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम और क्या है इसकी खासियत।

2023 वर्ल्ड कप क्रिकेट को ध्यान में रखते हुए बनाया गया

लगभग 100 मिलियन डॉलर की लागत से निर्मित अहमदाबाद का सरदार पटेल स्टेडियम, कोई नया नहीं है। इससे पहले इसी जगह पर स्टेडियम था, जो मोटेरा स्टेडियम के नाम से मशहूर था, लेकिन अब इसको तोड़कर फिर से बनाया गया है और इसमें मेलबर्न ग्राउंड से ज्यादा सीटें लगाई गई हैं। इस स्टेडियम में आधुनिक तकनीकियों और 2023 वर्ल्ड कप क्रिकेट को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। 1 लाख 10 हजार दर्शकों के बैठने के साथ दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है और अब यह स्टेडियम पहला अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी कर रहा है।

मोटेरा स्टेडियम के बारे में विशेष

दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम बनने का गौरव प्राप्त कर रहे इस मोटोरा स्टेडियम कई रिकॉर्ड का गवाह रहा है। जहां कई दिगग्ज खिलाड़ियों ने इतिहास रचा है।

मोटेरा स्टेडियम 1983 में शुरू हुआ और 1987 में तब लोकप्रिय हुआ जब सुनील गावस्कर ने इस मैदान पर अपना 10,000 वां टेस्ट रन बनाया। वह इस मुकाम तक पहुंचने वाले पहले बल्लेबाज थे।

इसी मोटेरा मैदान पर भारतीय दिग्गज कपिल देव ने रिचर्ड हैडली के 431 टेस्ट विकेटों के विश्व रिकॉर्ड को तोड़ा था।

इसके अलावा सचिन तेंदुलकर ने 1999 में इस मैदान पर अपना पहला दोहरा शतक बनाया था।

पुराने स्टेडियम ने 1983 और 2014 के बीच 12 टेस्ट और 24 एकदिवसीय मैचों की मेजबानी की थी। इसके अलावा 2011 विश्व कप और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के 2006 संस्करण के स्थानों में से एक था।

नए स्टेडियम की खास बातें

मोटेरा में सरदार पटेल गुजरात स्टेडियम मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड से आगे निकल जाएगा क्योंकि यह दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है।

M/S पॉपुलस ने इस स्टेडियम को डिजाइन किया है। यह वही फर्म है जिसने मेलबर्न स्टेडियम को बनाया था।

स्टेडियम 63 एकड़ भूमि में बना है और इसमें 110,000 लोगों की क्षमता होगी जो मेलबर्न स्टेडियम 95,000 लोगों की बैठने की क्षमता और 5,000 लोगों की खड़े होने वाले क्षमता को भी पार जाएगा।

स्टेडियम में 76 कॉर्पोरेट बॉक्स हैं, साथ ही स्टेडियम में कोई स्तंभ का निर्माण नहीं हुआ है, जिससे प्रशंसकों को स्टेडियम के किसी भी कोने से मैच देखने के दौरान किसी भी बाधा का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इसके साथ दुनिया में टॉप 10 बड़े स्टेडियमों की सूची में भारत में कुल पांच स्टेडियम होंगे। फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में सबसे अधिक स्टेडियमों की संख्या है।

इस स्टेडियम में पार्किंग क्षेत्र लगभग 3,000 कारों और 10,000 दोपहिया वाहनों को खड़ी करने की व्यवस्था।

पांच सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम:

• मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम, अहमदाबाद

• मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, मेलबर्न

• ईडन गार्डन, कोलकाता

• पर्थ स्टेडियम, पर्थ

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *