नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश में शिक्षक बनने की तैयारी कर रहे युवाओं को जल्द ही बड़ी खुशखबरी मिल सकती है. दरअसल, राज्य के अशासकीय सहायता प्राप्त जूनियर हाई स्कूलों (बेसिक स्कूलों) में सहायक अध्यापकों और प्रधानाध्यापकों की भर्ती हो सकती है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सहायक अध्यापक और प्रधानाध्यापक के 1894 खाली पदों को भरने के लिए जल्द ही आवेदन प्रक्रिया शुरू की जा सकती है.

18 फरवरी को आएगा नोटिफिकेशन 
खबर के अनुसार इसके लिए नोटिफिकेशन 18 फरवरी को जारी होने वाला है. जबकि आवेदन प्रक्रिया 22 फरवरी से शुरू होने की संभावना है. अशासकीय सहायता प्राप्त जूनियर हाई स्कूलों में सहायक अध्यापक और प्रधानाध्यापक की भर्ती प्रक्रिया, कार्यक्रम और योग्यता आदि संबंधी विवरण भी उत्तर प्रदेश शासन में विशेष सचिव आर. वी. सिंह ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी, प्रयागराज को भेज दिया है. उन्होंने यह कार्यवाही 10 फरवरी 2021 को ही कर दी थी.

11 अप्रैल को होगी परीक्षा
-उम्मीदवार आवेदन की प्रक्रिया के लिए रजिस्ट्रेशन 8 मार्च तक कर पाएंगे.
-आवेदन शुल्क 9 मार्च तक जमा किया जाएगा.
-पूर्ण रूप से सबमिट किये गये अपने एप्लीकेशन का प्रिंट आउट 10 मार्च तक ले पाएंगे.
-परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए एडमिट कार्ड 5 अप्रैल को जारी किये जाएंगे.
-परीक्षा का आयोजन 11 अप्रैल 2021 को किया जा सकता है.

लिखित परीक्षा में होगा एक पेपरअशासकीय सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूल शिक्षकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा से पहले इसके शासनादेशों में लगातार बदलाव किया जा रहा है. एक माह में दो आदेश जारी हो चुके हैं. पहला शासनादेश 18 जनवरी को जारी हुआ था. इसमें परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को परीक्षा का जिम्मा सौंपा गया था. हालांकि यह स्पष्ट नहीं था, कि भर्ती परीक्षा का पाठ्यक्रम क्या होगा.दूसरा शासनादेश 10 फरवरी को आया. इसमें पाठ्यक्रम व परीक्षा को तो स्नातक स्तरीय बताया गया, लेकिन कई अन्य बिंदुओं पर बड़ी चूक हो गई. जैसे कि एक प्रश्नपत्र की सहायक

अध्यापक की लिखित परीक्षा की समय सारिणी जारी हुई, जबकि बिंदु दो में कहा गया है कि प्रथम प्रश्नपत्र में 50 और दूसरे प्रश्नपत्र में 100 सवाल होंगे. परीक्षा लेने वाली संस्था का कहना है कि ये सवाल एक ही प्रश्नपत्र के दो खंडों में रहेंगे|

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *