मथुरा: 

उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद (UPBTVP) हरिद्वार कुम्भ (Haridwar Kumbh) से पूर्व 14 फरवरी से वृन्दावन (Vrindavan) में ‘वैष्णवों की बैठक’ मेले का आयोजन करने जा रही है. यह कार्यक्रम 40 दिन तक चलेगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 14 फरवरी को मेले के अवसर पर ध्वजारोहण कर ‘कुम्भ पूर्व वैष्णवों की बैठक’ का उद्घाटन करने वृन्दावन जाएंगे. ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्र ने बताया, “इस अवसर पर देश-विदेश के प्रसिद्ध संत, महात्मा व अखाड़ों से जुड़े साधू-सन्यासी मेले में भाग लेने पहुंच रहे हैं. कुम्भ मेले को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन एवं उसके सभी विभाग युद्ध स्तर पर तैयारियों में जुटे हुए हैं, जो अब अंतिम चरण में हैं.”

उन्होंने बताया कि 16 फरवरी को मेले का पहला शाही स्नान है. इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 14 फरवरी को यहां आकर मेले का ध्वजारोहण करेंगे. इस मौके पर वे ब्रज के प्रख्यात संत देवरहा बाबा की स्मृति में स्थापित घाट का लोकार्पण करेंगे व जिले में करीब तीन सौ करोड़ रुपए की लागत के विकास का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे. जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने बताया, “मुख्यमंत्री 14 फरवरी (रविवार) को पूर्वाह्न 11 बजे हैलिकॉप्टर से वृन्दावन पहुंचेंगे. सबसे पहले वे ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगे. फिर गीता मनीषी संत ज्ञानानन्द महाराज व स्थानीय संतों से एक-एक कर मुलाकात करेंगे. तत्पश्चात वे यहां तीर्थ परिषद की तीसरी बैठक में भाग लेंगे व जनपद की विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे. अंत में, नवनिर्मित देवरहा बाबा घाट का लोकार्पण करेंगे और वहां होने वाली आरती में सम्मिलित होकर वापस लौट जाएंगे.”

मेलाधिकारी एवं परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नागेंद्र प्रताप ने बताया, “कुम्भ मेले के दौरान श्रद्धालुओं के पेयजल के रूप में गंगाजल उपलब्ध कराया जाएगा. साथ ही, यमुना में स्नान के लिए भी गंगाजल प्रवाहित कराने के प्रयास जारी हैं. मेले में अन्य सभी तैयारियां कर ली गई हैं. यहां तक कि निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए बिजली विभाग द्वारा एक सब-स्टेशन स्थापित कर दिया गया है.”

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *