मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को स्वामित्व योजना के तहत ग्रामीणों को घरौनी प्रमाण पत्र बांटने की शुरुआत करेंगे। पांच कालीदास मार्ग पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कुछ ग्रामीणों को उनकी आवासीय संपत्ति का डिजिटल दस्तावेज प्रमाण पत्र घरौनी सौपेंगे। इसके तुरंत बाद राजस्व विभाग के अफसर राज्य में 11 जिलों के 1001 गांवों के 1,57,244 ग्रामीणों को घरौनी बांटेंगे।

ड्रोन से सर्वे
स्वामित्व योजना में प्रत्येक जिले के 20-20 गांवों को चुनते हुए सर्वे शुरू किया जा चुका है। सर्वे ऑफ इंडिया 40 ड्रोन के जरिये इन गांवों में वास्तविक ग्रामीण आबादी में मौजूदा सभी घरों, उनके क्षेत्रफल आदि का सर्वे कर रहा है। गांवों में घरों के मालिकों की सूची तैयार कर घरौनी बनाई जा रही है। सभी खातेदारों की आपत्तियों का निस्तारण करने के बाद अंतिम रूप से मालिकाना हक घोषित किया जाएगा। ग्रामीण आबादी के सभी घरों की नंबरिंग की जाएगी। इसका सबसे बड़ा फायदा पट्टीदारों के बीच विवाद समाप्त होने के साथ ही घरों का मालिकाना हक मिलने से उन पर बैंक लोन आदि भी मिल सकेगा।

घरौनी पर मिल सकेगा लोन
गांवों की कृषि भूमि, ग्रामसभा, बंजर आदि भूमि का रिकार्ड तो रेवन्यू विभाग के पास होता है। कृषि भूमि का मालिकाना हक दिखाने के लिए खसरा खतौनी बनाई जाती है, लेकिन आबादी में बने घरों का मालिकाना हक के लिए कोई दस्तावेजी प्रमाण नहीं होता। इससे तमाम परेशानियां सामने आती हैं। घरों का बंटवारा होने के बाद भी विवाद समाप्त नहीं होता है। इससे अदालती मुकदमें बढ़ते जा रहे हैं।  इसके अलावा गांवों के घरों की यूनिक आईडी नहीं होती। मालिकाना हक नहीं होने से घरों को बैंकों में मॉर्गेज पर नहीं रखा जा सकता है। इस योजना के तहत मालिकाना हक मिलने के बाद खतौनी की तर्ज पर घरौनी बनेगी। जिसके आधार पर ग्रामीण बैंकों से लोन प्राप्त कर सकेंगे। अभी मकान के कागज ना होने के कारण बैंक ग्रामीणों को उनके मकान के आधार पर पर लोन नहीं देते थे।

157244 घरौनी तैयार

देश के 11 जिलों में 1001 गांवों में ड्रोन के जरिए सर्वे कर 1,57,244 ग्रामीणों के आवास की घरौनी तैयार हो गई है। शुक्रवार को इस ग्रामीणों को उनकी संपत्ति का मालिकाना हक सौंप दिया जाएगा। बुंदेलखंड और अयोध्या के गांवों में ड्रोन से सर्वे चल रहा है।

इन जिलों के ग्रामीणों को मिलेगी घरौनी
जिला          राजस्व ग्राम    कुल डिजिटल 
आजमगढ़     46              3167
कौशाम्बी      35              8987
चित्रकूट       24              4414
जालौन        187            26275
झांसी          131             24565
फतेहपुर       48              7733
बांदा           36              9953
महोबा         139            25100
ललितपुर     183            13442
वाराणसी     33              1404
हमीरपुर       139            32204

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *