दिल्ली में अब जब सर्दियां खत्म होने पर है, राजधानी में गर्मियों का आगमन होने को है। फरवरी के महीने में बढ़ता तापमान दिखाई दे रहा है। भारत के मौसम विभाग (IMD) ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में फरवरी में तापमान 30 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। ऐसा 15 सालों में पहली बार हुआ है, आमतौर पर दिल्ली में ये सर्दियों के दिन ही होते हैं, लेकिन मौसम विभाग के आंकड़ों से पता चलता है कि 2006 में फरवरी के पहले छमाही में अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया था। दिल्ली ने भी बुधवार को फरवरी का अपना अधिकतम तापमान दर्ज किया।

आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार, शहर के आधिकारिक मार्कर माने जाने वाले सफदरजंग मौसम स्टेशन पर बुधवार को अधिकतम तापमान दर्ज किया गया, जो मौसम के सामान्य से सात डिग्री अधिक होकर 30.4 डिग्री सेल्सियस था। हालांकि मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि तापमान में आया शुरुआती उछाल न तो “असामान्य” है और न ही असामान्य रूप से गर्म महीने, या गर्मियों के आने को लेकर आवश्यक रूप से संकेत है।

गुरुवार का तापमान वापस नीचे आकर 26.1 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया, जबकि न्यूनतम 9.6 डिग्री सेल्सियस था। हालांकि, वैज्ञानिकों ने कहा कि तापमान में यह गिरावट अस्थायी होगी और भविष्यवाणी की थी कि पारा फिर से बढ़ेगा। वास्तव में, 13 फरवरी से 21 फरवरी के बीच अधिकतम तापमान फिर से 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जाने के आसार हैं।

फरवरी 2006 में भी महीने का उच्चतम अधिकतम तापमान का रिकॉर्ड हुआ है, जब 26 फरवरी को राजधानी में पारा 34.1 डिग्री सेल्सियस को छू गया था, जो सामान्य से लगभग 11 डिग्री अधिक था। आईएमडी रिकॉर्ड बताते हैं कि फरवरी के लिए औसत अधिकतम तापमान 23.9 डिग्री सेल्सियस है, और औसत न्यूनतम 10.4 डिग्री सेल्सियस है।

आईएमडी के वैज्ञानिकों ने कहा कि इस फरवरी में तापमान में पिछले वर्षों की तुलना में वृद्धि देखी गई है, बुधवार को पारे में बढ़ोतरी पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण हुई, जिसके कारण हवा की दिशा में भी बदलाव आया।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *