मऊ में शुक्रवार को कोरोना वैक्सीनेशन के दौरान टीका लगवाने के करीब एक घंटे बाद एक सिपाही की हालत बिगड़ गई। उसे पहले इमरजेंसी में लाकर इलाज शुरू किया गया लेकिन कोई सुधार नहीं होने पर वाराणसी रेफर कर दिया गया। सिपाही को वाराणसी लाने के बाद बीएचयू अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

पांच फरवरी से दूसरे चरण का वैक्सीनेशन शुरू होने के साथ ही फ्रंट लाइन यानी पुलिसकर्मियों का टीकाकरण हो रहा है। जिला महिला अस्पताल में शुक्रवार की सुबह पुलिसकर्मियों को टीका लगाया जा रहा था। इसी दौरान क्षेत्राधिकारी नगर नरेश कुमार के गनर राजेश यादव ने भी दोपहर 12 बजे के करीब टीका लगवाया। टीकाकरण के बाद कुछ देर तक वह ठीक रहा। करीब एक घंटे बाद अचानक उसे घबराहट महसूस होने लगी। डाक्टरों को उसके पास बुलाया गया। आननफानन में उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल के इमरजेंसी कक्ष लाया गया। 

टीकाकरण के बाद सिपाही की हालत बिगड़ने की सूचना अफसरों को मिली तो हड़कंप मच गया। जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल, पुलिस अधीक्षक सुशील घुले, क्षेत्राधिकारी नगर नरेश कुमार, सीएमओ डॉ. सतीश चंद्र सिंह, डीआईओ डॉ. बृजेश यादव, सीएमएस डॉ. बृज कुमार भी पहुंच गए। 

इमरजेंसी में भी सिपाही की हालत नहीं सुधरने पर चिकित्सकों ने वाराणसी स्थित बीएचयू अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। हालांकि सीएमओ डॉ. सतीश चंद्र सिंह ने बताया कि सिपाही राजेश कुमार की हालत पूरी तरह से नियंत्रण में है। ईजीसी समेत अन्य जांच सामान्य है। ऐहतियात के तौर पर उसे बीएचयू रेफर किया गया है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *