स्वास्थ्य बीमा खरीदने की तैयारी कर रहे लोगों के लिए अच्छी खबर है। बीमा नियामक इरडा ने यूज एंड फाइल प्रक्रिया के अंतर्गत बीमा कंपनियों को चार श्रेणी में नए बीमा उत्पाद पेश करने की अनुमति प्रदान कर दी है। इस सहूलियत के बाद बीमा कंपनियां इरडा से बिना पूर्व अनुमति मिले नए उत्पाद बाजार में पेश कर पाएंगी। विशेषज्ञों का कहना है कि यह एक बेहतर कदम है। इससे बीमा धारकों को नई सुविधा वाले उत्पाद मिलेंगे।

बीमा विनियामक इरडा से मिली मंजूरी के अनुसार, सभी सामान्य और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों को चार नई श्रेणी के व्यक्तिगत प्रोडक्ट एड-ऑन और हेल्थ पॉलिसी के राइडर्स, यूज एंड फाइल प्रक्रिया के अंतर्गत लॉन्च करने की अनुमति मिली है। बीमा नियामक ने कहा कि चार नई श्रेणियां व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, विदेश यात्रा बीमा, घरेलू यात्रा बीमा और लाभ-आधारित स्वास्थ्य बीमा हैं। इरडा ने अतिरिक्त जानकारी देते हुए बताया कि लाभ-आधारित स्वास्थ्य बीमा उत्पाद वो प्रोडक्ट होते हैं जिसके अंतर्गत बीमा धारक को किसी भी आकस्मिक परिस्थिति में चुने गए निश्चित लाभ के रूप में एक निर्दिष्ट लाभ का भुगतान किया जाता है।

व्यक्तिगत पॉलिसी को ही लॉन्च किया जाएगा

इरडा द्वारा दी गई दिशानिर्देशों के अनुसार ही व्यक्तिगत पॉलिसी को यूज एंड फाइल प्रक्रिया के अंतर्गत ही लॉन्च किया जा सकता है। व्यक्तिगत दुर्घटना, घरेलू और विदेशी यात्रा प्रोडक्ट के मामलें में यूज एंड फाइल प्रक्रिया तभी लागू होगी जब पॉलीसी के अंतर्गत बेस कवर, एड-ऑन कवर या राइडर के तहत पेशकश की है। किसी भी प्रकार के एक्सीडेंट और यात्रा के दौरान हुई दुर्घटना भी इसमें शामिल है।

नियम के उल्लंधन पर कार्रवाई भी होगी

दिए गए नियमों के अनुसार इन उत्पाद मे किसी भी प्रकार का संसोधन यूज एंड फाइल प्रक्रिया के अंतर्गत ही किए जाएंगे। किसी भी बीमा कंपनी को यूज एंड फाइल प्रक्रिया के तहत उत्पाद को लॉन्च करते समय नियमों का उल्लंघन करने पर कारवाई की जाएगी। इसके तहत बीमा कंपनी को उत्पाद वापस लेना होगा। साथ ही बीमाकर्ता के लिए निर्धारित अवधि के लिए यूज एंड फाइल सुविधा को वापस ले लिया जाएगा। यह नया नियम 1 अप्रैल 2021 से फाइल किए जाने वाले उत्पादों पर लागू होगा।

राइडर या ऐड-ऑन बेनिफिट्स का मतलब

राइडर या ऐड-ऑन बेनिफिट्स का मतलब किसी भी बीमा पॉलिसी के साथ कोई अन्य लाभ को जोड़ लेना। यानी पॉलिसी में कवर होने वाले जोखिम के साथ साथ दूसरे किसी जोखिम को उसी पॉलिसी के साथ जोड़ देना। अगर आप सामान्य जीवन बीमा पॉलिसी लेते हैं तो उसके साथ एक राइडर के तौर पर क्रिटिकल इलनैस (गंभीर बीमारियों) के जोखिम को कवर करने के लिए अतिरिक्त राइडर जोड़ सकते हैं। आप टर्म इंश्योरेंस के साथ राइडर भी ले सकते हैं।

ग्राहकों को मिलेंगे कई विकल्प

पॉलिसीएक्स.कॉम के सीईओ, नवल गोयल ने कहा कि यह निस्संदेह इरडा द्वारा उठाया गया एक बेहतर कदम है। इससे आने वाले बीमा उत्पादों में इनोवेश को बढ़ावा मिलेगा क्योंकि कंपनियां अपने उत्पाद को पहले उपयोग कर सकेंगी और फिर इसे बाजार में पेश कर सकेंगी। ग्राहकों को भी अपनी आवश्यकताओं के अनुसार नए उत्पाद चुनने का विकल्प बढ़ेगा क्योंकि कंपनियां बिना मंजूरी के बाजार में नए उत्पाद जल्द पेश करेंगी।

इंडेक्सस-लिंक्ड जीवन बीमा पॉलिसी को मंजूरी

बीमा नियामक इरडा के पैनल ने इंडेक्स-लिंक्ड इंश्योरेंस पॉलिसी (आईलिप) को लाने की मंजूरी दे दी है। इंडेक्स-लिंक्ड इंश्योरेंस पॉलिसी (आईलिप) के रिटर्न को एक इंडेक्स पर बेंचमार्क किया जाएगा। इससे पॉलिसीधारकों को गारंटीकृत वैल्यू पाने में मदद मिलेगी। पैनल के मुताबिक नया उत्पाद यूलिप के विकल्प के तौर पर होगा जो निवेशकों को बाजार के उतार चढ़ाव से बचाने में मदद करेगा।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *