महाराष्ट्र की उद्धव सरकार और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बीच टकराव का एक नया मामला सामने आया है। महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को देहरादून जाने के लिए सरकारी विमान के इस्तेमाल की मंजूरी नहीं दी है, जिसके बाद खुद कर्मशियल फ्लाइट बुक करके उन्हें जाना पड़ा। माना जा रहा है कि इस घटनाक्रम से महाराष्ट्र की सियासत में एक बार फिर से राज्यपाल और उद्धव सरकार में टकराव देखने को मिल सकती है। 

समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी देते हुए कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को राज्य सरकार के प्लेन से आज देहरादून जाना था। मगर जब वह मुंबई एयर पोर्ट पर पहुंचे, तो उनसे कहा गया कि उन्हें प्लेन से देहरादून के लिए उड़ान भरने की इजाजत नहीं दी गई है। इसके बाद उन्होंने कर्शियल फ्लाइट बुक की और फिर देहरादून के लिए रवाना हुए। 

बताया तो यह भी जा रहा है कि राज्यपाल कोश्यारी सरकारी विमान में जाकर बैठ चुके थे, उसके कुछ देर बाद उन्हें पता चला कि सरकार ने उन्हें इसकी इजाजत ही नहीं दी है। तब जाकर उन्हें खुद एक कमर्शियल फ्लाइट बुक करनी पड़ी। माना जा रहा है कि महाराष्ट्र में अब इस मसले पर सियासत देखने को मिल सकती है। भाजपा इस मुद्दे को लेकर उद्धव सरकार को घेरने की कोशिश कर सकती है।  

इससे पहले भी गवर्नर और राज्य सरकार के बीच कई मसलों पर टकराव देखे जा चुके हैं। अनलॉक फेज के दौरान राज्य में मंदिर खोलने से लेकर राज्यपाल कोटा से 12 लोगों को एमएलसी नियुक्त किए जाने के फैसले तक पर सरकार और राज्यपाल के बीच गतिरोध देखने को मिला। जब से शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने 2019 में महाराष्ट्र में सरकार बनाई है, ठाकरे की अगुवाई वाली सरकार कई मुद्दों पर राज्यपाल के साथ उलझी दिखी। 
 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *