सर्दी का दौर अब भी जारी है। वहीं एकबार फिर पश्चिमी व‍िक्षोभ के कारण देश के कई हिस्‍सों में बर्फबारी और बारिश की आशंका जताई जा रही है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के पूर्वानुमान के मुताबिक  अफगानिस्‍तान और पाकिस्‍तान के आसपास पश्चिमी विक्षोभ के कारण तूफानी हालात उत्‍पन्‍न हो रहे हैं। इसका सीधा असर भारत के उत्‍तरी पहाड़ी इलाकों पर देखने को मिलेगा।

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ की वजह से जम्‍मू कश्‍मीर, गिलगित-बाल्टिस्‍तान, मुजफ्फराबाद में आज से बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है। हिमाचल प्रदेश के भी ऊंचाई वाले इलाकों में कहीं-कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है। 

उत्तराखंड में आंशिक बादल छाने और गर्जना के साथ एक-दो स्थानों पर थोड़े समय के लिए बौछारें गिरने के आसार हैं। मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ की वजह से जहां ऊंचे इलाकों में बर्फबारी होगी वहीं निचले इलाकों में बारिश हो सकती है। इसका असर उत्‍तराखंड के चमोली में आए जल प्रलय के बाद चलाए जा रहे राहत कार्य पर भी पड़ सकता है। 

स्काइमेट वेदर की मानें तो, 13 और 14 फरवरी को अरुणाचल प्रदेश में हल्की बारिश होने के आसार हैं। सप्ताह के मध्य से बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के अधिकांश हिस्सों में सर्दी बढ़ सकती है क्योंकि ठंडी हवाओं का असर बढ़ जाएगा।

राजस्थान में मौसम का मिजाज बदलता जा रहा है। यहां लोगों को कंपकंपा देने वाली ठंड से लोगों को थोड़ी राहत मिली है। हवाओं के रूख बदलने से दिन के पारे में बढ़ोतरी का क्रम जारी है, तो वहीं रात का पारा भी दो से तीन डिग्री उपर दर्ज किया जा रहा है। 

मघ्य प्रदेश में भी धीरे-धीरे तापमान बढ़ रहा है। बताया जा रहा है कि यहां पर आसमान साफ रहने से धूप निकलेगी और तापमान भी बढ़ेगा। हालांकि उत्तर भारत के कई राज्यों में अभी सुबह-शाम की ठंड बरकरार है। इसमें दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और बिहार शामिल है। वहीं कई इलाकों में सुबह के वक्त कोहरे की भी वापसी हुई है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *