प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन से टेलीफोन पर पहली बार बात की और उन्हें भारत आने के लिए आमंत्रित किया। इस बातचीत में प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति बाइडन को चुनाव में जीत के लिए बधाई दी और भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए साथ मिलकर काम करने के लिए तत्पर रहने को कहा। दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय विकास और व्यापक भू-राजनीतिक संदर्भ पर चर्चा की।

दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय मुद्दों और द्विपक्षीय मुद्दों पर की चर्चा

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि आज मैंने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से टेलीफोन पर बात की और उन्हें चुनावों में मिली सफलता के लिए शुभकामनाएं दीं। पीएम ने कहा कि भारत-अमेरिकी साझेदारी लोकतांत्रिक मूल्यों और साझा रणनीतिक हितों के लिए प्रतिबद्धता से जुड़ी हुई है। उन्होंने नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था और मुक्त, खुला और समावेशी भारत-प्रशांत क्षेत्र की शांति और सुरक्षा के लिए रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने पर बल दिया। साथ ही समान विचारधारा वाले देशों के साथ काम करने के महत्व को दोहराया।

जलवायु परिवर्तन के खिलाफ सहयोग को आगे बढ़ाने पर हुए सहमत

पीएम मोदी और राष्ट्रपति बाइडन ने वैश्विक जलवायु परिवर्तन की चुनौती पर अपने सहयोग को और आगे बढ़ाने पर सहमति जताई है। प्रधानमंत्री ने पेरिस समझौते के लिए पुन: प्रतिबद्ध होने के राष्ट्रपति बाइडन के निर्णय का स्वागत किया। साथ ही भारत ने अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में अपने लिए निर्धारित महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को उजागर किया। प्रधानमंत्री ने इस वर्ष अप्रैल में जलवायु नेतृत्व शिखर सम्मेलन आयोजित करने के लिए राष्ट्रपति बाइडन की पहल का स्वागत किया और उसी में भाग लेने के लिए उत्सुक दिखे।

गौरतलब हो कि यह बातचीत ऐसे समय में हुई जब भारत और अमेरिका की सेनाएं राजस्थान में युद्धाभ्यास कर रही हैं। ऐसे में जब बाइडेन प्रशासन स्पष्ट तौर पर कह चुका है कि चीन को लेकर ट्रंप के कार्यकाल की नीतियों में बदलाव नहीं आएगा। माना जा रहा है कि बाइडेन के कार्यकाल में अमेरिका और भारत के संबंध और मजबूत होंगे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *