रामपुर के स्वार में जंगल में शौच करने गई किशोरी को तीन लोगों ने बुरी नीयत से दबोच लिया और जबरन गन्ने के खेत में ले गए। इसके बाद उसके साथ तमंचे के बल पर सामूहिक दुष्कर्म किया गया। चीख-पुकार सुनकर पास के खेतों में काम कर रही महिलाएं आ गईं। इस पर आरोपी फायरिंग करते हुए भाग खड़े भाग खड़े हुए। घटना के बाद गांव में पंचायत में मामले को निपटाने की कोशिश की गई, लेकिन पीड़िता के कार्रवाई पर अड़ जाने के बाद पुलिस से शिकायत की गई। इस पर पुलिस बलात्कार के दो आरोपियों और पीड़िता को काम दिलाने के बहाने ले जाने वाली महिला के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी, लेकिन वह फरार मिले। 

कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी का कहना है कि 20 जनवरी को बालानगर निवासी महिला राबियया उसकी 13 वर्षीय बेटी को जंगल में मजदूरी कराने के बहाने से ले गई थी। इसी दौरान उसे शौच की ख्वाहिश हुई तो वह खेत में चली गई। आरोप है कि वहां दो युवक मिले और वह उसे अकेला देखकर खींचते हुए गन्ने के खेत में ले गए। उसके साथ छेड़छाड़ की। जब वह चीखी तो उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। एक युवक ने उसके सिर पर तमंचा रख दिया। इसके बाद दोनों ने उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया।

किसी तरह मुंह में ठुंसा कपड़ा हटाने के बाद उसने चीख-पुकार मचाई तब बराबर के खेत में काम कर रही महिला मजदूर वहां आ गईं। आरोपियों ने जाति-सूचक शब्दों से अपमानित करने के बाद तमंचे से फायरिंग करते हुए फरार हो गए। इस मामले को रफा-दफा करने के लिए गांव में पंचायत में फैसला करने के लिए दबाव बनाना शुरू हुआ, लेकिन पीड़िता नहीं मानी। इसके बाद पीड़िता गुरुवार को कोतवाली पहुंची और शिकायत दर्ज कराई।

कोतवाल रूम सिंह बघेल का कहना है कि शाहरुख और भूरा तथा पीड़िता को बुलाकर ले जाने वाली राबिया निवासी बालानगर के खिलाफ दुष्कर्म और अनुसूचित जाति अधिनियम समेत अनेक धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों को पकड़ने के लिए टीम बनाई गई है। कई जगह दबिशें भी दी गईं लेकिन वह फरार मिले।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *