प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भतीजी  सोनल मोदी अहमदाबाद नगर निकाय चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी का टिकट पाने में नाकाम रहीं। दरअसल, भाजपा ने अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) के आगामी चुनाव के लिए गुरुवार अपने उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कर दी, लेकिन इसमें सोनल मोदी का नाम नहीं है। सोनल मोदी का नाम नहीं होने पर भाजपा ने उम्मीदवारों के लिए नये नियमों का हवाला दिया है।

दरअसल, सोनल मोदी ने मंगलवार को पत्रकारों से कहा था कि उन्होंने एएमसी के बोदकदेव वार्ड से चुनाव लड़ने के लिये भाजपा से टिकट मांगा है। सोनल मोदी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी की बेटी हैं, जो शहर में राशन दुकान चलाते हैं और गुजरात उचित दर दुकान संघ के अध्यक्ष भी हैं। गौरतलब है कि गुजरात भाजपा ने हाल ही में घोषणा की थी कि पार्टी नेताओं के रिश्तेदारों को आगामी चुनाव में टिकट नहीं दिया जाएगा। हालांकि, सोनल मोदी ने दावा किया था कि उन्होंने प्रधानमंत्री की भतीजी होने के नाते नहीं, बल्कि भाजपा कार्यकर्ता की हैसियत से टिकट मांगा था।

भाजपा की ओर से गुरुवार देर शाम जारी की गई सूची में बोदकदेव या किसी अन्य वार्ड से सोनल को उम्मीदवार नहीं बनाया गया। भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष सी आर पाटिल से जब सोनल मोदी को टिकट नहीं दिये जाने के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि नियम सबके लिये बराबर हैं। गुजरात के राजकोट, अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, भावनगर और जामनगर समेत कुल छह नगर निगमों के चुनाव के लिये 21 फरवरी को मतदान होगा, जबकि 81 नगरपालिकाओं, 31 जिला पंचायतों और 231 तालुका पंचायतों के लिये 28 फरवरी को वोट डाले जाएंगे।

राजकोट के 11 मौजूदा पार्षदों को इस बार टिकट नहीं
इस बीच भाजपा के राजकोट अध्यक्ष कमलेश मिरानी ने कहा कि नए नियमों के चलते राजकोट के 11 मौजूदा पार्षदों को इस बार टिकट नहीं दिया गया है। उन्होंने राजकोट में पत्रकारों से कहा कि कुल मिलाकर करीब 20 मौजूदा पार्षदों को टिकट नहीं दिया गया है। विपक्षी कांग्रेस छह नगर निगमों के विभिन्न वार्डों के लिए अब तक 180 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर चुकी है। छह नगर-निगमों के चुनाव के लिए 21 फरवरी को मतदान होगा जबकि 81 नगरपालिकाओं, 31 जिला पंचायतों और 231 तालुका पंचायतों के लिए 28 फरवरी को वोट डाले जाएंगे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *